मेवाड़ की खबरें


उदयपुर वर्ल्ड म्यूजिक फेस्टिवल 15 फरवरी से

20 से ज्यादा देशों के 150 से अधिक वैश्विक कलाकार लेंगे हिस्सा

उदयपुर। भारत में विश्व संगीत का ख्यातनाम समारोह, उदयपुर वर्ल्ड म्यूजिक फेस्टिवल 15 से 17 फरवरी तक आयोजित किया जाएगा। फेस्टिवल का यह चौथा संस्करण दुनियाभर के 150 से अधिक नामचीन कलाकारों की मौजूदगी का गवाह बनेगा। इसमें स्पेन, इटली, फ्रांस, क्यूबा, ब्राजील, भारत सहित 20 से अधिक देशों के कलाकार हिस्सा लेंगे। हर साल 50,000 से ज्यादा लोगों की भागीदारी के साथ, यह फेस्टिवल देश में प्रदर्शनकारी कला जगत को रूपांतरित कर देने वाला साबित हुआ है।
सहर इंडिया के संस्थापक निदेशक संजीव भार्गव ने कहा कि फेस्टिवल में बेमिसाल जीवंत प्रदर्शन होते हैं और यह सर्वश्रेष्ठ ढंग से सांस्कृतिक विविधता का अवसर होता है। तीन सुरम्य आयोजन स्थलों में फैला यह फेस्टिवल संगीत की गहन विविधता में डूब जाने का अवसर प्रदान करता है। इस विविधतापूर्ण संगीत में सुबह के ध्यानपूर्ण राग से लेकर दोपहर में झील के बगल में गूंजने वाली साकार रूमानी संगीत प्रस्तुतियों तक, दिनभर की तमाम मनोदशाएं सम्मिलित होती हैं। सांध्यकालीन मंच जोशीले युवा संगीत से भरपूर होता है, जो सभी आयु वर्ग के लोगों को एक साथ ले आता है। इसके अलावा, महोत्सव में स्थानीय राजस्थानी प्रतिभाएं भी अपनी प्रस्तुतियां देती हैं। यह स्थानीय कलाकारों को एक बेशकीमती मंच और व्यापक पहुंच देता है।
इस साल का महोत्सव विभा सराफ (भारत), अल्बालुना (पुर्तगाल), ला डेम ब्लैंच (क्यूबा - फ्रांस), नेटिग रिदम ग्रुप (अजरबैजान), एला कैटररेस (कैटेलोनिया, स्पेन) जैसे कई कलाकारों और समूहों के प्रदर्शन का गवाह बनेगा, जो संगीत की विभिन्न शैलियों और विधाओं का प्रदर्शन करके जनसमूह को मंत्रमुग्ध कर देंगे।
संजीव भार्गव ने कहा कि संगीत में विभिन्न संस्कृतियों, परंपराओं, राष्ट्रीयताओं और जीवन के सभी क्षेत्रों के लोगों को एक सूत्र में बांधने की अनूठी क्षमता होती है। हमें अपने देश के सबसे बड़े और बहुप्रतीक्षित संगीत समारोह का चौथा संस्करण पेश करने का गौरव मिला है, जिसमें 20 से अधिक देशों की प्रतिभाओं की झलकियां मिलेंगी। यह महोत्सव संगीत पे्रमियों के लिए एक मंत्रमुग्ध कर देने वाला अनुभव होगा, जिसे वे जीवनभर के लिए संजोकर रखेंगे।

By : Suresh Lakhan



डिग्रियां जरुरी लेकिन नवाचार करने वालों को भी मिले प्रोत्साहन

आईआईटी की क्षमता दस हजार विद्यार्थियों को प्रशिक्षित करने की
33वीं इंडियन इंजीनियरिंग कांग्रेस संपन्न

उदयपुर। शिक्षा व डिग्री जरूरी है लेकिन उससे ज्यादा जरुरी है कि नवाचार करने वालों को प्रोत्साहन मिले। देश में एक ओर आम आदमी दो वक्त की रोटी के लिए संघर्षरत है, दूसरी ओर हमें चिकित्सा, रक्षा व आंतरिक क्षेत्र में नए आयामों को छूना है। यह विचार इंस्टीट्यूशन आॅफ इंजीनियर्स की 33वीं कांग्रेस में देशभर से जुटे इंजीनियर्स ने व्यक्त किए जिनका मानना था कि हमारे इंजीनियर्स विश्वस्तरीय हैं व आईआईटी से बेहतरीन इंजीनियर्स लगातार तैयार हो रहे हैं। आईआईटी की क्षमता दस हजार विद्यार्थियों को प्रशिक्षित करने की है, लेकिन इसका मतलब कतई नहीं है कि जो बच्चे आईआईटी में नहीं पढ़ पा रहे हैं, वे बुद्धिमत्ता में कमतर हैं।
आयोजन समिति के अध्यक्ष इंजीनियर सोहनसिंह राठौड़ ने बताया कि शोधार्थियों ने विभिन्न विशेषज्ञों के समक्ष विचार रखे तो विशेषज्ञों ने चुनौतियों व अवसरों के बारे में बताया। आईआईटी-जोधपुर के डायरेक्टर प्रो. शांतनु चौधरी ने कहा कि देश में ब्रेन और टेलेंट का मुकाबला दुनिया में कोई नहीं कर सकता, मगर जब तक सही प्लेटफार्म उपलब्ध नहीं हो पाएगा, तब तक डिग्रियों का कोई मतलब नहीं है। उन्होंने कहा कि इंजीनियरिंग के क्षेत्र में पाठ्यक्रम, प्रशिक्षण और इंप्लीमेंटेशन के स्तर पर कुछ समस्याएं हैं, जिन्हें दूर कर समावेशी विकास के लक्ष्य को पाया जा सकता है।
अंतरराष्ट्रीय सत्र में भारत, नेपाल, बांग्लादेश, श्रीलंका साहित अन्य देशों के प्रतिनिधियों ने इंजीनियरिंग के क्षेत्र की वैश्विक चुनौतियों पर विचार करते हुए कहा, तकनीकी के साथ ही साइबर सुरक्षा के क्षेत्र में अब भी कई देशों में बहुत कुछ किया जाना शेष है। तकनीकी ने हमें सुरक्षा व सुविधा तो प्रदान की ही है लेकिन साइबर खतरों की अनदेखी नहीं की जा सकती। डॉ. रघुनाथ के शेवगांवकर, वीसी, बैनेट यूनिवर्सिटी ने कहा की आॅप्टिकल कम्युनिकेशन क्षेत्र में इंजीनियर्स के लिए नौकरी के कई सुनहरे मौके हैं। वायरलेस और आॅप्टिकल फाइबर केबल के सहयोग से देश की संचार व्यवस्था को मजबूत बनाया जा सकता है। हमारा देश ग्लोबल लेवल पर प्रतिस्पर्धा कर रहा है। न्यूक्लियर व विमानन प्रौद्योगिकी में हम दुनिया के कई विकसित देशों से बहुत आगे पहुंच चुके हैं। आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस और साइबर सिक्योरिटी के क्षेत्र में देश में बहुत कुछ किया जाना शेष है। विद्यार्थियों के लिए संदेश है कि वे उच्च मानकों पर वो शोध आधारित कार्य करें।
सादिक मोहम्मद चौधरी, चेयरमैन, इंस्टीट्यूशंस आॅफ इंजीनियर्स, बांग्लादेश ने कहा की बांग्लादेश में इंजीनियर्स का इस समय सबसे ज्यादा फोकस ऊर्जा संकट को कम करने पर है व उन्होंने बहुत हद तक सफलता पाई है। भारत में हमें स्टील और ऊर्जा क्षेत्र में बहुत सहयोग मिल रहा है। इंजीनियरिंग के क्षेत्र में बांगलादेश में भी नौकरियों का वैसा ही संकट है जैसा कि भारत में है।

By : Sameer Banerjee



राज्य सरकार की अप्रधान खनिज रियायत नियमावली को सख्ती की जरुरत: चौधरी

नये खनिजों की खोज हेतु विशेष कार्य-योजना बनाई जाये
वैज्ञानिक एवं पर्यावरण-मित्र खनन से ही खनिज विकास कायम रखना सम्भव

उदयपुर। खनन क्षेत्रों में हो रहे अवैज्ञानिक एवं अविवेकपूर्ण खनन के कारण खनन-क्षेत्रों में भूमि प्रदूषण, जल प्रदूषण, वायू प्रदूषण, ध्वनि प्रदूषण, वन विनाश, भू उपयोग परिवर्तन, व्यावसायिक स्वास्थ्य पर दुष्प्रभाव जेसी पर्यावरणीय समस्याओं का विस्तार हो रहा है। साथ ही यांत्रिक खनन प्रक्रिया के अभाव में खनिज संसाधनों का भी आदर्श उपयोग नहीं हो पा रहा जिससे की ये बहुमूल्य संसाधन तेजी से कम होते जा रहे हैं। राज्य में खनिज विकास की गति को बनाए रखने के लिए आवश्यक है कि सुनियोजित एवं पर्यावरण-मित्र खनन को अपनाया जाय।
उल्लेखनीय हे की जियोसाईन्टिस्ट सोसायटी ऑफ़ राजस्थान तथा मोहनलाल सुखाडिया विवि के भूविज्ञान विभाग द्वारा राजस्थान कीं खनिज सम्पदा के विकास की सम्भावनाएं तथा खनिज क्षेत्र की चुनौतियाॅं दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी हुई जिसमे बोलते हुए गोविन्द गुरू जनजातीय विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. कैलाश सोडानी ने कहा कि राजस्थान खनिज संसाधनों की दृष्टि से देशभर में अपना महत्वपूर्ण स्थान रखता है।
राष्ट्रीय संगोष्ठी के संयोजक डाॅ. हर्ष भू ने बताया कि तकनिकी सत्रों में 32 शोध पत्रों को प्रस्तुत किये गये। इस दौरान प्रमुख वक्ता भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण के पूर्व महानिदेशक डाॅ. एस. के वधावन, पूर्व उप-महानिदेशक एल. एस. शेखावत, पूर्व उप-महानिदेशक ए. के. बासु, खनिज अन्वेषण कार्पोरेशन लिमिटेड के एस. के. ठाकुर, आणविक खनिज विभाग के एम. के. खण्डेलवाल, बाल्दोता समूह के ओ.पी. सोमानी, हिन्दुस्ताान जिंक लिमिटेड के एस. के. वषिष्ठ, एन. के. कावडिया एवं स्काॅट, राजस्थान विश्वविद्यालय के रचित परिहार, सयाजीराव विश्वविद्यालय के प्रो. के.सी. तिवारी, सुखाडिया विश्वविद्यालय के पूर्व आचार्य प्रो. पी.एस. राणावत, प्रो. एन.के. चौहान आदि थे।
जियोसाईन्टिस्ट सोसायटी ऑफ़ राजस्थान के अध्यक्ष डाॅ. आर. चौधरी ने खनिज नियमों पर चर्चा करते हुए कहा कि प्रदेश में हो रहे अनियोजित एवं अवैज्ञानिक खनन की रोकथाम के लिए राज्य सरकार ने जो नई अप्रधान खनिज रियायत नियमावली लागू की है वो एक सराहनीय कदम है। आवश्यकता केवल इस बात की है कि खनिज क्षेत्र से सम्बन्धित खान एवं भूविज्ञान विभाग इन नियमों की सख्ती से पालना सुनिश्चित करे।
आयोजन सचिव डाॅ. विनोद अग्रवाल ने बताया कि इस राष्ट्रीय संगोष्ठी में समूह चर्चा के इन पर सहमति बनी:
1. वैज्ञानिक खनन एवं पर्यावरण-मित्र खनन को बढावा देने हेतु पृथक से कार्य-दल (टाॅस्क फोर्स) का गठन किया जाये जिसमें तकनिकी विशेषज्ञों को भी सम्मिलित किया जाये।
2. प्रत्येक खदान पर भूवैज्ञानिक अथवा खनन अभियन्ता को नियुक्त किया जाये। नियुक्त भूवैज्ञानिक अथवा खनन अभियन्ता पूर्व में अनुमोदित खनन-योजना के अनुरूप खनन कार्य करने, पर्यावरण संरक्षण, अपषिष्ठ के उचित निस्तारण, प्रदूषण नियंन्त्रण, खनिज संरक्षण, खनन प्रतिवेदन आदि कार्यों के लिए प्रतिबद्ध होगा।
3. नये खनिजों की खोज हेतु विशेष कार्य-योजना बनाई जाये तथा शोध हेतु प्रदेश में स्थित विभिन्न विश्वविद्यालयों के भूविज्ञान विभागों को सम्मिलित किया जाये। जिला स्तरीय गठित मिनरल फाउन्डेशन ट्रस्ट में प्राप्त अंशदान का समुचित एवं दिये गये प्रावधानों के अनुरूप उपयोग।
4. राज्य में लघु आकार के खनिज निक्षेपों के दोहन के लिए विशेष कार्य-योजना बनाई जाये जिससे इन उपलब्ध संसाधनों का उपयोग भी हो सके।

By : Sameer Banerjee



तीन दिवसीय सामुदायिक सेवा शिविर संपन्न

अंतिम दिन दिया स्वच्छता का सन्देश

18/01/2019 - उदयपुर। जनार्दन राय नागर राजस्थान विद्यापीठ डीम्ड विश्वविद्यालय के बेदला स्थित कूल माताश्री विजया मां मंगल भारती सामुदायिक केंद्र पर लोकमान्य तिलक शिक्षण प्रशिक्षण महाविद्यालय डबोक के B.Ed प्रथम वर्ष के छात्र अध्यापकों के तीन दिवसीय सामुदायिक सेवा शिविर संपन्न।

By : Sameer Banerjee



दिव्यांग मदद एवं स्वच्छता आर्मी का गठन

उद्घाटन क्षेत्रीय विधायक संजय गुप्ता ने किया

18/01/2019 - उदयपुर। नारायण सेवा संस्थान द्वारा प्रयागराज के महाकुंभ क्षेत्र में गुरुवार को नारायण सेवा मित्र स्वयं सेवक प्रकल्प का उद्घाटन क्षेत्रीय विधायक संजय गुप्ता ने किया। संस्थापक कैलाश मानव ने बताया कि ये स्वयं सेवक व्हील चेयर आर्मी और स्वच्छता आर्मी के रुप में काम करते हुए शिविर के चिकित्सा प्रकोष्ठ में निशुल्क ऑपरेशन के लिए आने वाले दिव्यांगों की मदद के साथ ही मेला क्षेत्र में सफाई एवं स्वच्छता में सहयोग करेंगे। विधायक गुप्ता ने संस्थान के सेवा एवं चिकित्सा शिविर में दिव्यांगो के होते हुए ऑपरेशन और कृत्रिम अंग तथा केलिपर वर्क शॉप का भी अवलोकन किया। गुप्ता ने कुंभ क्षेत्र में इस तरह के सेवा शिविर को महत्वपूर्ण एवं पीडत मानवता की सेवा करने वाला बताया। फोटो: nss udr

By : Sameer Banerjee



पर्यावरण के प्रति जागरूकता का दिया संदेश

बेदला में सड़क सुरक्षा पर निकाली रैली

16/01/2019 - उदयपुर! जनार्दन राय नागर राजस्थान विद्यापीठ डीम्ड विश्वविद्यालय के बेदला स्थित कूल माताश्री विजया मां मंगल भारती सामुदायिक केंद्र पर लोकमान्य तिलक शिक्षण प्रशिक्षण महाविद्यालय डबोक के B.Ed प्रथम वर्ष के छात्र अध्यापकों के तीन दिवसीय सामुदायिक सेवा शिविर के द्वितीय दिवस पर छात्र अध्यापकों ने बेदला में सड़क सुरक्षा पर रैली निकाली वह ग्रामीणों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के लिए बेदला चौराहे पर नुक्कड़ नाटक किया इससे पूर्व केंद्र पर आयोजित समारोह में मुख्य अतिथि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर एसएस सारंगदेवोत थे विशिष्ट अतिथि लोकमान्य तिलक शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालय की प्राचार्य प्रोफेसर शौर्य चित्तौड़ा एवं B.Ed प्रभारी डॉ रचना राठौड़ थी, स्वागत उद्बोधन लोक शिक्षण प्रतिष्ठान के सहायक निर्देशक धर्मेंद्र राजोरा ने दिया इस अवसर पर छात्र अध्यापकों द्वारा पर्यावरण चेतना व स्वच्छता का संदेश देने वाले भित्ति पत्रिका का विमोचन प्रोफेसर एसएस सारंगदेवोत ने किया व छात्र अध्यापकों में पर्यावरण के प्रति जागरूक रहने का संदेश दिया इसके बाद उन्होंने सड़क सुरक्षा पर आयोजित रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया रैली में छात्र अध्यापक सड़क सुरक्षा संबंधी नारे की तख्तियां हाथों में लेकर नारे लगा रहे थे शिविर प्रभारी डॉ प्रेमलता गांधी ने बताया कि केंद्र पर छात्र अध्यापक डॉ ललित कुमार श्रीमाली डॉ. हिम्मत सिंह चुंडावत एवं प्रमिला पुरबिया के निर्देशन में कार्य कर रहे हैं महाविद्यालय के शोधार्थी महेंद्र नागदा ने शिक्षा और भारतीय संस्कृति पर विचारों से अवगत कराया.

By : Sameer Banerjee



निःशुल्क कुष्ठ रोग विकलांगता पुर्ननिर्माण शल्य चिकित्सा शिविर

6 रोगी का शल्य चिकित्सा 30 व 31 जनवरी को

16/01/2019 - उदयपुर। राजस्थान सरकार एवं गीतांजली मेडिकल काॅलेज एवं हाॅस्पिटल, उदयपुर के संयुक्त तत्वाधान में ‘निःशुल्क कुष्ठ रोग विकलांगता पुर्ननिर्माण शल्य चिकित्सा शिविर’ का आयोजन गीतांजली हाॅस्पिटल में हुआ। उदयपुर के उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ राघवेंद्र राय ने बताया कि इस शिविर के अंतर्गत वरिष्ठ प्लास्टिक व काॅस्मेटिक सर्जन एवं बर्न स्पेशियालिस्ट डाॅ आशुतोष सोनी ने रोगियों को निःशुल्क परामर्श दिया। साथ ही शिविर में आए 16 रोगियों की स्क्रीनिंग भी की गई। इनमें से 6 रोगी शल्य चिकित्सा हेतु उपयुक्त पाए गए जिनका 30 व 31 जनवरी, 2019 को गीतांजली हाॅस्पिटल में ही निःशुल्क ऑपरेशन किया जाएगा।

By : Suresh Lakhan



इन्सपायर अवार्ड मानक प्रदर्शनी कल

राजकीय फतह उमावि में आयोजन होगा

16/01/2019 - उदयपुर। इन्सपायर अवार्ड मानक स्कीम के तहत् उदयपुर सम्भाग में 279 विद्यार्थियों का चयन हुआ है। जिला स्तरीय इन्सपायर अवार्ड मानक प्रदर्शनी का आयोजन 17 जनवरी को राजकीय फतह उमावि में होगा। प्रत्येक विद्यार्थियों के खाते में 10 हजार की राशि उनके बैंक खाते में जमा हुई है। भारत सरकार नई दिल्ली के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के तहत इस प्रदर्शनी का नोडल अधिकारी जिला शिक्षा अधिकारी मुख्यालय माध्यमिक उदयपुर को बनाया गया है, जिसमें उदयपुर सम्भाग के विद्यार्थी भाग लेंगे। शुभारंभ स्कूली शिक्षा संयुक्त निदेशक भरत मेहता के मुख्य आतिथ्य एवं मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक शिवजी गौड की अध्यक्षता में होगा।

By : Suresh Lakhan



राजपल्मोकाॅन सम्मेलन में गीतांजली के चिकित्सकों ने छाप छोड़ी

राज्य के 400 से अधिक टीबी एवं चेस्ट चिकित्सक सम्मलित

15/01/2019 - उदयपुर। गीतांजली मेडिकल काॅलेज एवं हाॅस्पिटल, उदयपुर के टीबी एवं चेस्ट विभाग के चिकित्सकों ने जयपुर में आयोजित तीन दिवसीय राज्य सम्मेलन राजपल्मोकाॅन 2019 में अध्यक्षता की। टीबी एवं चेस्ट विभागाध्यक्ष डाॅ एसके लुहाड़िया अस्थमा पर आयोजित चर्चा के पैनल सदस्य थे। डाॅ गौरव छाबड़ा धूम्रपान एवं फेफड़ों में कैंसर विषयक चर्चा के अध्यक्ष थे। डाॅ ऋषि शर्मा ने ‘दक्षिणी राजस्थान के 350 रोगियों के फेफड़ों में कैंसर’ विषयक पेपर प्रस्तुत किया एवं क्रिटिकल केयर पर आयोजित सेशन के अध्यक्ष थे। साथ ही डाॅ अतुल लुहाड़िया ने अनिदनीय प्लूयरल एफ्यूज़न में थोरेकोस्कोपी की भूमिका विषयक पेपर प्रस्तुत किया तथा सीओपीडी पर आयोजित चर्चा के पैनल सदस्य थे। सम्मेलन के प्रथम दिन आयोजित क्विज प्रतियोगिता में डाॅ अतुल लुहाड़िया ने प्रथम स्थान भी प्राप्त किया। इस सम्मेलन में राज्य के 400 से अधिक टीबी एवं चेस्ट चिकित्सक सम्मलित हुए थे।

By : Suresh Lakhan



उदयपुर सरस राष्ट्रीय क्राफ्ट मेला 19 से

19 जनवरी से 2 फरवरी तक शिल्पग्राम में
सांस्कृतिक आयोजन भी होंगे

15/01/2019 - उदयपुर। भारत सरकार के ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा प्रायोजित एवं राजस्थान सरकार के ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज विभाग की ओर से आयोजित उदयपुर सरस राष्ट्रीय क्राफ्ट मेला 2019 आगामी 19 जनवरी से 2 फरवरी तक शिल्पग्राम के दर्पण द्वार परिसर में आयोजित होगा। जिला कलक्टर आनंदी ने महिला सशक्तिकरण के साथ महिलाओं को प्रोेत्साहित करने के लिए आयोजित इस मेले में आमजन से अधिक से अधिक भागीदारी निभाने का आह्वान किया है। जिला परियोजना प्रबंधक नरपत सिंह जेतावत ने बताया कि देश के विभिन्न राज्यों सहित राजस्थान के समस्त जिलों से विभिन्न महिला स्वयं सहायता समूहों द्वारा तैयार कलाकृतियों एवं उत्पादों की प्रदर्शनी एवं बिक्री इस मेले में की जाएगी। मेले में आमजन का प्रवेश निःशुल्क रहेगा। मेले में पेंटिंग, हेंडीक्राफ्ट, कपडे, खिलौने, लैदर, सजावटी सामान, विविध व्यंजन, गहने, हैण्डलूम आदि बिक्री हेतु उपलब्ध रहेंगे। इस दौरान सांस्कृतिक आयोजन भी होंगे।

By : Suresh Lakhan



सोना एवं चांदी में शुद्धता एवं भावों की एकरुपता जरुरी: भावना जैन

सर्राफा एसोसिएशन कार्यकारिणी ने ली शपथ

15/01/2019 - उदयपुर। सर्राफा एसोसिएशन कार्यकारिणी ने आयोजित समारोह में शपथ ली। आयोजन में गजेंद्रसिंह शक्तावत, जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रकाशचंद्र पगारिया, महापौर चंद्रसिंह कोठारी, उदयपुर डिवीजन के चैंबर ऑफ कॉमर्स अध्यक्ष पारस सिंघवी, कांग्रेस नेता लालसिंह झाला एवं अन्य ने शिरकत की। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए संगठन संरक्षक इंदरसिंह मेहता ने बताया कि सोना एवं चांदी बुलियन में शुद्धता के साथ भावों की एकरुपता को लेकर कदम उठाया जाएगा। सोने एवं चांदी जेवर निर्माण में पुराने एवं नए दक्ष एवं होशियार कारीगरों को उनकी विशेष डिजाइन पर सम्मानित भी किया जाएगा। समारोह को मुख्य वक्ता एवं सुप्रीम कोर्ट की एडवोकेट भावना जैन ने संबोधित किया। समारोह में अध्यक्ष यशवंत आंचलिया, उपाध्यक्ष महावीर सिंघटवाडिय़ा, मंत्री राधेश्याम सोनी एवं अन्य पदाधिकारियों ने शपत ली। इस दौरान नाथद्वारा, राजनगर, खेरवाड़ा, भीण्डर सहित अन्य जगहों के एसोसिएशन पदाधिकारी उपस्थित रहे।

By : Suresh Lakhan



छात्राध्यापकों का सामुदायिक सेवा शिविर शुरू

90 छात्राध्यापक भाग ले रहे है
सामाजिक आर्थिक एवं शैक्षिक स्थिति का होगा सर्वे

15/01/2019 - उदयपुर। जनार्दन राय नागर राजस्थान विद्यापीठ के मातोश्री विजया मां मंगल भारती सामुदायिक केंद्र बेदला पर लोकमान्य तिलक शिक्षण प्रशिक्षण महाविद्यालय के छात्राध्यापकों का तीन दिवसीय सामुदायिक सेवा शिविर का आगाज हुआ। लोक शिक्षण प्रतिष्ठान के सहायक निदेशक डॉ. धर्मेंद्र राजोरा ने उपस्थित बी एड के छात्राध्यापकों को राजस्थान के लोक शिक्षण प्रतिष्ठान की विकास यात्रा पर प्रकाश डाला। केंद्र के व्यवस्थापक डॉ. ओमप्रकाश पारीक ने केंद्र पर आयोजित होने वाली गतिविधियों से अवगत करवाया। इस शिविर में भाग ले रहे 90 छात्राध्यापकों में जनचेतना हेतु नारा लेखन के साथ स्थानीय समुदाय की सामाजिक आर्थिक एवं शैक्षिक स्थिति का सर्वे किया।
इस अवसर पर मेवाड़ टाइम्स डॉट कॉम के समाचार सलाहकार समीर बैनर्जी ने छात्राध्यापकों को से उनकी छिपी हुई प्रतिभा को बाहर लाने के विषय पर व्याख्यान देते हुए कहा की संघर्ष सेवा और त्याग ही सफलता का मूलमंत्र है। बैनर्जी ने ऑनलाइन चलने वाले कई लिंक के बारे में छात्राध्यापकों को बताया। शिविर प्रभारी डॉ प्रेमलता गांधी ने बताया कि इस अवसर पर अध्यापक ललित श्रीमाली एवं डॉ हिम्मत सिंह चुण्डावत एवं प्रमिला पुर्बीया के निर्देशन में सामाजिक कार्य संपन्न किए जाएंगे।

By : Sameer Banerjee



मकर संक्रांति की पूर्व रात्रि पर व्यंजन युक्त भोजन के 1500 पेकेट वितरीत

केशवधाम सेवा संस्थान ने वृहद स्तर पर की पहल
वितरण व्यवस्था मे कई गुरु भक्तो के सानिध्य
प्रातः भी 400 से ज्यादा याचको को भोजन करवाया

14/01/2019 - उदयपुर। तप सम्राट पूज्य केशुलाल जी म. की प्रेरणा से मकर सक्रान्ति पर्व की पूर्व रात्रि में विभिन्न स्थानों पर आकर जगह रोकने वाले याचकगणो को केशवधाम सेवा संस्था द्वारा व्यंजन युक्त भोजन के 1500 पेकेट वितरीत किये गये।
संस्थान अध्यक्ष महेश बम्ब ने बताया रात्रि में चेतक सर्किल मस्जिद, मोहता पार्क, सुखाड़िया सर्किल, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, मल्लाहतलाई चौराहा एवं अन्य स्थानों पर आने वाले सभी याचको को भोजन के पेकेट सत्कारपूर्वक वितरीत किये गये।
महासचिव कमलेश बम्ब ने बताया की मकर सक्रान्ति पर्व के दिन भी प्रातः मालदास स्ट्रीट श्री महावीर अमर जैन स्थानक पर आने वाले 400 से ज्यादा याचको को खीर- पूड़ी युक्त भोजन करवाया गया।
प्रभारी सम्पत बापना ने बताया की गत वर्ष हमने मकर सक्रान्ति पर्व की पूर्व रात्रि में भोजन के पेकेट वितरीत किये जिसे सभी के द्वारा सराहा गया क्योकि मकर सक्रान्ति के दिन तो कई लोग उन्हें खाना एवं विभिन्न वस्तुए दान देते हे, मगर पूर्व रात में कोई उनकी तरफ ध्यान नहीं देता था। अतः केशवधाम सेवा संस्थान ने वृहद स्तर पर यह पहल की है।
वितरण व्यवस्था मे सुनील बापना, राजेश तोषनीवाल, अशोक मादरेचा, विवेक छाजेड़, दिनेश बम्ब, ललित भंडारी, डॉ.लवीना सामर, संदीप कंठालिया, जिनेन्द्र बापना, दीपेश तलेसरा, शैलेश मारु, विनीता तलेसरा, सरोज कंठालिया, यशवंत तलेसरा, मीठालाल सिंघवी, जितेंद्र वया, कल्पेश पगारिया, भंवर सिंह, हर्ष भंडारी इत्यादि कई गुरु भक्तो के सानिध्य रहा।

By : Vinita Talesara



नेहा कक्कड़ के तरानों पर झूमे उदयपुरराइट्स

देश ने प्यार दिया यही मेरी पोजिटिविटी : नेहा कक्कड़
इम्पीरियल ब्लू सुपरहिट नाइट्स को यादगार बनाया
हेप्पीनेस के लिए हेल्दी एंटरटेनमेंट भी जरुरी

13/01/2019 - उदयपुर। देश में भले ही असहिष्णुता की कितनी भी बातें की जाती हो, इस देश ने मुझे बहुत प्यार दिया और मैं इंडिया छोड़ कर कहीं नहीं जा सकती हूं। यह बात भारत की सबसे पसंदीदा युवा म्यूजिकल आइकन, सिंगिंग सुपरस्टार नेहा कक्कड़ ने कहीं। वे इम्पीरियल ब्लू सुपरहिट नाइट्स के पांचवे सीजन से पूर्व आयोजित प्रेसवार्ता में बोल रही थीं। उन्होंने कहा कि उनके लिए संगीत सबसे पहले है और राजनीति से बिल्कुल भी अपडेट नहीं है। वह इंटरटेंटमेंट से खुश है। इस देश के लोग उन्हें इतना प्यार देते हैं, वही उनकी ताकत है। नेहा ने कहा कि अच्छा कलाकार वही होता है जो लोगों को पसंद आए जिनके लिए वह दिल से गाती है। लोग उनके गाने सुनकर खुश रहते हैं। जो उन्हें अच्छा परफोर्म करने के लिए ऊर्जा देता है। नेहा ने कहा कि सभी को अपने परिवार और परिजनों को गर्व की अनुभूति कराना चाहिए। जिसे वह बखूबी निभाती है। उन्हें बहुत अच्छा लगता है जब उनकी खुशी के लिए लोग प्रार्थना करते हैं जो उन्हें प्रेरणा देता है। नई पीढ़ी के लिए नेहा ने कहा कि किसी भी तरह से लोगों की आत्मविश्वास कम करने की कोशिश को नकारते हुए अपने टेलेंट को कड़ी मेहनत से संवारना चाहिए। आज के समय में लडक़ा ओर लडक़ी सब बराबर हैं। खुद में नकारात्मकता नहीं आने दे तो सफलता जरूर मिलेगी। पर्नोड रिकार्ड इंडिया के चीफ मार्केटिंग ऑफिसर, कार्तिक मोहिंदर ने कहा कि इम्पीरियल ब्लू सुपरहिट नाइट्स के पांचवे सीजन की शुरूआत नेहा कक्कड़ के साथ लखनऊ से हुई थी। गुवाहाटी और मैंगलोर की यात्रा के बाद उदयपुर में नेहा कक्कड़ ने रोमांचक धुनों पर शानदार प्रस्तुति दी। इसके बाद इम्पीरियल ब्लू सुपरहिट नाइट्स का पांचवां सीजन इंदौर पहुंचेगा और 2 फरवरी 2019 को भुवनेश्वर में इसका समापन होगा। कार्तिक मोहिंदर ने कहा कि उदयपुर के कार्यक्रम में नेहा कक्कड़ ने आंख मारे, निकले करंट, दिलबर, काला चश्मा, ला ला ला, और लंदन ठुमकदा जैसे गानों पर प्रस्तुति देकर श्रोताओं को रस विभोर कर दिया। संगीत की मधुर धुनों पर डीजे सुकेतु ने रीमिक्स पर अपनी प्रस्तुति से इम्पीरियल ब्लू सुपरहिट नाइट्स को यादगार बना दिया। ऐसा पहले कभी नहीं हुआ।

By : Sameer Banerjee



रामपुरा संस्कृत विद्यालय को मिली आर्थिक सहायता

सफाई व रंगरोगन कर पढ़ाया स्वच्छता का पाठ
विद्यालय के विकास के लिए 10 हजार रू की आर्थिक सहायता की

12/01/2019 - उदयपुर। शहर के राजकीय उच्च प्राथमिक संस्कृत विद्यालय रामपुरा में स्वच्छता से जुड़े एक संगठन भारत देखो के सदस्यों ने भ्रमण किया और विद्यालय में सफाई व रंगरोगन कर विद्यार्थियों के साथ खेल खेले, संगठन ने विद्यालय को आर्थिक सहायता भी दी। स्वच्छ भारत अभियान और एक्शन उदयपुर से जुड़े इस विद्यालय को स्वच्छता और नवाचार के लिए पहले सम्मानित किया जा चुका है। संस्था प्रधान शीला शर्मा ने बताया कि भारत देखो संगठन के सदस्य देश के अलग - अलग प्रान्तों के हैं और विभिन्न विद्यालयों में जाकर स्वच्छता का संदेश देते हैं तथा स्वयं सफाई कार्य करते हैं। रामपुरा विद्यालय में भी संगठन के 170 से अधिक स्वयंसेवकों ने खेल मैदान और विद्यालय परिसर की सफाई की, रंग रोगन किया और विद्यार्थियों के साथ भोजन ग्रहण करने के साथ खेल खेले। संगठन की ओर से विद्यार्थियों के ज्ञानवर्धन के लिए विशेष सत्र रखा गया, सभी विद्यार्थियों को उपहार भी दिये गये। विद्यालय के विकास के लिए संगठन ने 10 हजार रूपये की आर्थिक सहायता की । भारत देखो के पदाधिकारियों ने कहा शिक्षा ग्रहण करना हर विद्यार्थी का मूल कार्य है लेकिन देश के विकास को गति प्रदान करने के लिए सामाजिक जिम्मेदारियों के प्रति जागरूक होने की जरूरत होती है । देश की भावी पीढ़ी में स्वच्छता, पर्यावरण सुरक्षा, वृक्षारोपण एवं रक्षा, जीव रक्षा, पानी बचाओ, शिष्टाचार, व्यवहार आदि पहलुओं को नवाचार के माध्यम से विकसित करने की आवश्यकता है।

By : Suresh Lakhan



Bulk Sms, Bulk Voice Call & Bulk email

11/01/2019 -

By : Bapna Communications



जिंक-यशद सुमेधा स्काॅलरशिप में 111 विद्यार्थियों को वित्तीय सहायता

अजमेर, भीलवाडा़, चित्तौड़गढ़, राजसमंद एवं उदयपुर जिलों के विद्यार्थियों का चयन

11/01/2019 - उदयपुर। हिन्दुस्तान जिंक अपने स्थापना दिवस के अवसर पर अपने सामाजिक उत्तरदायित्व के तहत जिंक-यशद सुमेधा स्काॅलरशिप वितरण कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिंक के मुख्य वित्तीय अधिकारी अमिताभ गुप्ता एवं पंकज कुमार, बरून गोरेन एवं सीएसआर हेड-नीलिमा खेतान ने 111 विद्यार्थियों को यशद सुमेधा स्काॅलरशिप प्रदान किया। कार्यक्रम सचिव रश्मि जैन ने सुमेधा स्काॅलरशिप के बारे में बताया कि सुमेधा संस्था का उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर परिवार के प्रतिभाशाली बच्चों को उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान कर उच्च शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करना है। ज़िंक के अमिताभ गुप्ता ने कहा कि हिन्दुस्तान जिंक नोबेल काॅज के लिए सदैव कटिबद्ध है हिन्दुस्तान जिंक के स्थापना दिवस पर उन्होंने कहा कि कंपनी हजारों विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा के लिए वित्तीय सहयोग देकर प्रशंसनीय कार्य कर रहा है। योजना के तहत परिवार की वार्षिक आय 2.50 लाख रुपये से कम तथा उच्च शिक्षा में 75 प्रतिशत अंक प्राप्त करने वाले छात्रों का चयन किया जाता है। राजस्थान के अजमेर, भीलवाडा़, चित्तौड़गढ़, राजसमंद एवं उदयपुर जिलों के छात्र-छात्राओं का सरकारी इंजीनियरिंग काॅलेजों में अध्ययनरत विद्यार्थियों का चयन किया गया है।

By : Suresh Lakhan


1