मेवाड़ की खबरें


हवाई यात्रियों की कंप्यूटेड टोमोग्राफी से होगी जांच

देश के 12 हवाई अड्डोंं पर मशीनें लगाई जाएंगी
हैंड बैग्ज चैक कराते समय भी समय बचेगा

उदयपुर। महाराणा प्रताप एयरपोर्ट सहित देश के प्रमुख घरेलू हवाई अड्डों पर यात्रियों के हैंड बैग या सेल्फ कैरी बैग्ज की जांच अब कंप्यूटेड टोमोग्राफी तकनीक से की जाएगी। इन मशीनों के लगने के बाद यात्रियों को उड़ान के तय समय से काफी पूर्व एयरपोर्ट पर रिपोर्ट करने में लगने वाले समय से काफी राहत मिल पाएगी। यात्रियों की फिजिकल चैकिंग में अब ज्यादा समय बर्बाद नहीं होगा। एयरपोर्ट्स पर सुरक्षा के लिए तैनात केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के महानिदेशक राजेश रंजन के अनुसार कंप्यूटेड टोमोग्राफी से संबंधित मशीनें टर्मिनल बिल्डिंग के प्री-इंकार्बेशन सिक्योरिटी एरिया में लगाई जाएगी। कंप्यूटेड टोमोग्राफी की संवेदनशील मशीनें यात्रियों के हाथों में पकड़े हैंड बैग्ज या पीठ के पीछे लटके रियर बैग्ज में रखी आपत्तिजनक वस्तुओं को पहचान लेगी। इससे टर्मिनल बिल्डिंग में बोर्डिंग पास लेने से पूर्व हैंड बैग्ज चैक कराते समय भी समय बचेगा। इन अत्याधुनिक मशीनों के लगने के बाद बायोमैट्रिक एक्सेस के जरिए यात्री चैकिंग की पेचीदगियों से काफी रहत महसूस करेंगे। सीआईएसएफ महानिदेशक का मानना है कि उनका सुरक्षा तंत्र सिर्फ मैनपावर से मजबूत नहीं होगा। मैनपावर के साथ तकनीकी का भी इस्तेमाल करना होगा। पहले चरण में देश के 12 हवाई अड्डोंं पर कंप्यूटेड टोमोग्राफी मशीनें लगाई जाएंगी जिनमें उदयपुर का महाराणा प्रताप एयरपोर्ट शामिल है।

By : Sameer Banerjee



डाॅव जोन्स द्वारा हिन्दुस्तान जिंक को विश्व की अग्रणी खनन कंपनी घोषित

हिन्दुस्तान जिंक़ सस्टेनेबिलिटी के प्रति कटिबद्ध
यशद भवन प्लैटिनम रेटेड ग्रीन बिल्डिंग

उदयपुर। विश्व की अग्रणी जस्ता-सीसा व चांदी उत्पादक कंपनी हिन्दुस्तान जिंक को विश्व प्रसिद्ध डॉव जोंस सस्टेनेबिलिटी इंडेक्स की ओर से खनन व धातु क्षेत्र में उत्कृष्ठ कार्य के लिए 5वां स्थान दिया गया है। गत वर्ष विश्व स्तर पर कंपनी का स्थान 11वां था। इसी तरह पर्यावरण के क्षेत्र में कंपनी को 86 फीसदी स्कोर के साथ प्रथम स्थान पर घोषित किया गया।
सामाजिक, आर्थिक स्कोर बढ़ाने में भी सफलता मिली है। कंपनियों का मूल्यांकन एवं बेंचमार्किंग आर्थिक, पर्यावरण और सामाजिक आयामों को ध्यान में रखकर किया गया। हिन्दुस्तान जिंक़ के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुनील दुग्गल के अनुसार हिन्दुस्तान जिंक़ सस्टेनेबिलिटी के प्रति सदैव कटिबद्ध है। डॉव जोन्स सस्टेनेबिलिटी इंडेक्स में मान्यता प्राप्त रैकिंग से बेहद खुशी है, जो पर्यावरण को जीरो हार्म के प्रति हमारी प्रतिबद्धता दर्शाता है। कंपनी ने 60 एमएलडी प्रतिदिन क्षमता के दूषित जल को उपचारित करने के लिए उदयपुर में पहला सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट स्थापित किया है।
हिन्दुस्तान जिंक के वाइस प्रेसीडेन्ट एवं हेड-कार्पोरेट कम्यूनिकेषन पवन कौशिक ने बताया कि हिन्दुस्तान जिंक आगामी 5 वर्षों में खनन कंपनियों की शीर्ष 5 कंपनियों में अग्रसर बनने की ओर प्रयासरत है। बेंचमार्क के तौर पर जिंक के उदयपुर स्थित प्रधान कार्यालय यशद भवन को सीआईआई-आईजीबीसी की ओर से राजस्थान की पहली प्लैटिनम रेटेड ग्रीन बिल्डिंग की मान्यता दी जा चुकी है।

By : Sameer Banerjee



लर्निंग सिटी अनकॉन्फ्रेंस सीखने-सिखाने का मेला

हर व्यक्ति गुरु और हर व्यक्ति शिष्य होता है
बेहतर समाज का निर्माण दिल, दिमाग और श्रम से संभव
भीतर छिपी प्रतिभा को साझा करने का मौका

उदयपुर। सीखने सिखाने एवं अपने भीतर छिपी प्रतिभा को खोजते हुए खूबसूरत दुनिया के लिए उन्हें साझा करने का मौका आज विद्या भवन पब्लिक स्कुल, देवाली में शहरवासियो को मिला। आयोजक हर्ष मित्तल ने बताया की हर कोई गुरु है और हर कोई शिष्य होता है हमने उन्हें एक मंच देने का प्रयत्न किया जो सफल रहा।
मुख्य सहयोगी शिक्षान्तर संस्थान के मनीष जैन ने अहम् भूमिका निभाई। साथ ही सुकून के सम्पत बापना ने नया पुराना उपयोगी सामान गिफ्ट करने की बात कही, मिलेट्स ऑफ मेवाड़ ने ऑर्गेनिक खाना खिलाया, स्वराज यूनिवर्सिटी के खौजियो ने अपना हुनर दिखाते हुए जादू दिखाया किसी ने परंपरागत खाना बनाया, संकल्प ने विशेष क्षमता के बच्चों के केयर पर बात कही, इको हट में जीरो वेस्ट पर उदयपुर कैसे हो की बात कही, बेनियन रूट्स ने ऑर्गेनिक खाद्य वस्तु उपयोग करने की बात कही, पुकार ने पेड़ लगाकर बड़े करने की बात कही, प्रणव आयुर्वेदा ने स्वास्थ एवं स्वस्थ जीवन शैली की बात कही, सुराणा जी ने मार्बल स्लरी से ईंट इत्यादि बनाकर पर्यावरण बचाने की बात कही, आस्था संस्थान के कन्हैया लाल ने वर्मी कम्पोस्ट के फायदे बताये, नाटयांश सोसाइटी, फ्लाइंग फोक्सेस, बिंदास कम्यूनिटी मीडिया एवं वर्व स्कुल इत्यादि की साझीदारी भी रही।
हर्ष मित्तल ने बताया की पूरा दिन एक ऐसा समुदाय जो निरंतर सीखने की इच्छा रखता है, से सीखने की प्रक्रिया में दिल, दिमाग और श्रम का संगम होने से एक बेहतर समाज के निर्माण हो सकता है। इसके लिए योंजनाए, प्रक्रियाएँ, कौशल, उपहारों, विचारों का संगम होता है। लगभग 600 स्थानीय, बाहर एवं विदेशी लोगो ने इस आयोजन में भाग लिया। सभी जो सीखना, मस्ती करना, हँसना, आनंदित होना चाहते थे वे इस अनकॉन्फ्रेंस में शामिल हुए।
राहुल जैन ने बताया की स्टोरी टेलिंग, पॉटरी, कॉमिक बुक मेकिंग, पेरेंटिंग पर धीरज अरोड़ा की कार्यशाला भी हुई।
इस आयोजन में विशाल धाबाई, गुड्डी प्रजापत, रितेश शेखावत, लक्ष्या, पूनम अय्यर, सेजल छापरवाल, गौतम कुमार, अब्दुल इत्यादि का सहयोग रहा।

By : Sameer Banerjee



कार्डियक कांफ्रेंस में जुटे देश के ख्यातनाम हृदयरोग विशेषज्ञ

भारत हार्ट अटैक के मामलों में अभी सबसे ऊपर है
माता-पिता का लाड बच्चों में बढ़ा रहा कोलेस्ट्रोल

19/11/2018 - उदयपुर। हार्ट एवं रिद्म सोसायटी की ओर से दो दिवसीय द फर्स्ट कार्डियक कांफ्रेंस में देशभर के 200 से अधिक हृदयरोग विषेशज्ञ व फिजिशियन जुटेे। कांफ्रेंस में हृदय रोग के उपचार में अपनाई जा रही अत्याधुनिक व नई तकनीक एवं उपचार के तरीकों के आदान-प्रदान पर मंथन हुआ। डॉ. अमित खंडेलवाल के अनुसार महात्मा गांधी हॉस्पीटल, जयपुर के कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. दीपेश अग्रवाल ने बच्चों को मोटा-ताजा बनाने के लाड में माता-पिता उन्हें इतना खिलाना-पिलाना शुरू कर देते हैं कि कम उम्र में ही उनके हृदय की नसों में कॉलेस्ट्रोल जमना शुरू हो जाता है। चूंकि बच्चों का एक्टिविटी लेवल काफी ज्यादा होता है इसलिए कोई भी चीज लिमिट से ज्यादा होने पर उनके लिए नुकसानदायक साबित होती है। मुंबई से आए इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. निमित शाह ने आईवीयूएस व रोटा एब्लेशन तकनीक से एंजियोप्लास्टी के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि आईवीयूएस से हार्ट की धमनी के अंदर ब्लॉकेज, धमनी की मोटाई और ब्लॉकेज की स्थिति के साथ उसमें लगने वाले स्टंट व बैलून की साइज का पता चलता है। इसका पता अल्ट्रासाउंड से लगाया जाता है। रोटा एब्लेशन ब्लॉकेज में जमा कैल्शियम को तोड़ने का काम करती है। इससे धमनी में जमा कैल्शियम हटने से ब्लॉकेज छोटा रह जाता है। उसके बाद की गई सटीक एंजियोप्लास्टी से मरीज के हार्ट की नाड़ी के दूरगामी परिणाम बेहतर हो जाते है। वडोदरा के डॉ. शोमू बोहरा ने ईसीजी के बारे में क्वीज के जरिए दिल की बीमारियों की बारिकियों को समझाया। उन्होंने बताया कि हार्ट बीट कम होने की स्थिति में पेसमेकर डाला जाता है। आम तौर पर इसकी जरूरत पचास साल बाद के रोगी में होती है, लेकिन कम उम्र के बच्चों में धड़कन कम होने पर भी इसका उपयोग होने लगा है। पैर के रास्ते डाला गया पेसमेकर भी काफी कारगर साबित होता है।
कांफ्रेंस में एम्स, जोधपुर के डॉ. सुरेंद्र देवड़ा एवं डॉ. साकेत गोयल ने हाई ब्लड प्रेशर के कारणों एवं उनके उपचार के बारे में समझाया। मैक्स हॉस्पीटल, नई दिल्ली के डॉ. मोहन भार्गव एवं बंगलुरु से आए डॉ. नवीन चंद्र ने पैर की धमनियों में खून के थक्के (डीवीटी) जमने के कारणों एवं उसके उपचार के बारे में बताया। उन्होंने उससे होने वाली जानलेवा बीमारी पल्मोनरी एंबोलिज्म के बारे में जानकारी दी। वरिष्ठ कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. एसके कौशिक ने हार्ट अटैक के प्रमुख कारणों एवं उनके अत्याधुनिक तकनीक से उपचार के बारे में बताया। डॉ. नगेंद्र एस चौहान ने एंजियोप्लास्टी की आधुनिक तकनीक ओसीटी एवं एफएफआर के बारे में जानकारी दी। समापन सत्र के मुख्य अतिथि डॉ. एचके बेदी थे।
कम उम्र में हार्ट अटैक भारत में अधिक: डॉ. पुंटो मुंबई में होली फैमिली हॉस्पिटल में कार्डियक विभाग के डायरेक्टर एवं विभागाध्यक्ष डॉ. ब्रियान पूंटो ने कहा कि सडन डेथ का शिकार सर्वाधित युवा होते हैं। बढ़ते तनाव से उनकी जीवनशैली भी अव्यवस्थित हो गई है। मोटापे के कारण ट्राईग्लिसराइड्स और एलडीएल (बैड कोलेस्ट्रॉल) का स्तर बढ़ जाता है। इससे भी सडन हार्ट अटैक हो जाता है। उन्होंने संवाददाताओं के सवाल-जवाब में कहा कि हार्ट पूरे शरीर को आॅक्सीजन और पोषक तत्व सप्लाई करता है। इसलिए इसका स्वस्थ रहना जरूरी है लेकिन कई कारण हैं, जिनसे हार्ट को फंक्शन करने में परेशानी होती है, उनमें मोटापा, तनाव, कोलेस्ट्रोल का बढ़ना, धमनियों में कैल्शियम जमना, ट्राइग्लिसराइड का बढ़ना है। मोटापा भी हार्ट अटैक की वजह बनता है। मोटापे के कारण ट्राईग्लिसराइड्स और एलडीएल (बैड कोलेस्ट्रॉल) का स्तर बढ़ जाता है,धमनियां संकड़ी हो जाती हैं, ब्लड प्रेशर ज्यादा हो जाता है। यही हार्ट अटैक का प्रमुख कारण है।
भारत हार्ट अटैक के मामलों में अभी सबसे ऊपर है। विदेशों में हार्ट अटैक की उम्र भारत से 10 वर्ष से कम है। सडन डेथ के मामलों में कार्डियक कम्प्रेशन देना चाहिए। इसके लिए जगह-जगह कक्षाएं लगानी चाहिए। लोगों में जागरूक करना चाहिए। कार्डियक कम्प्रेशन तब तक दें जब तक डिफिब्रिलेटर नहीं मुहैया हो जाए।
अचानक नहीं होता हार्ट अटैक, लक्षण पहले से होते हैं : डॉ. कौल बत्रा हार्ट सेंटर, नई दिल्ली के डायरेक्टर डॉ. उपेंद्र कौल का कहना है कि सडन हार्ट अटैक अकस्मात होता जरूर है लेकिन इसके लक्षण कहीं न कहीं हार्ट के भीतर लम्बे समय से विद्यमान रहते हैं जिससे रोगी अनजान होता है। कार्डियक अरेस्ट होने पर अगर मरीज को तुरंत चिकित्सकीय सहायता मिल जाए तो जान बच सकती है। कई बार लोग कहते हैं कि रात में पार्टी में व्यक्ति डांस कर रहा था, स्वस्थ था और देर रात्रि कार्डियक अरेस्ट से मौत हो गई। कार्डियक अरेस्ट को सीधे शब्दों में कहें तो हार्ट बीट का अचानक रुक जाना है। दिल की धड़कन तभी रुकती है जब उसे आॅक्सीजन न मिले यानी मांसपेशियों को खून न मिले। ये अनियंत्रित जीवनशैली की वजह से होता है यानी धमनियों में आंशिक ब्लॉकेज लम्बे समय से आता जा रहा था, लक्षण एकदम से नहीं दिख रहे थे। सडन कार्डियक डेथ में 30 से 35 फीसदी लोगों की एकबार में ही मृत्यु हो जाती है क्योंकि हार्ट को हुत अधिक हानि होती है। सडन डेथ के रोगियों में कोलेस्ट्रोल व एलडीएल बढ़ना भी वजह होती है। ऐसे रोगियों के अचानक थकान भरा काम करने, स्ट्रेस आने से कार्डियक अरेस्ट हो जाता है।
दिल की पंपिंग से शुरू हो सकती है धड़कनें कार्डियक अरेस्ट में दिल कुछ समय के लिए रुकता है लेकिन बाद में धड़कन शुरू होने की संभावना होती है इसलिए अगर मरीज को सीने पर दबाव के जरिए दिल को पंप किया जाए [सीपीआर] तो संभव है कि मरीज की जान बच सके। ऐसी स्थिति में मरीज के सीने को 100 से 120 बार तक दबाना चाहिए और 30-30 बार दबाने के बाद मरीज की सांसें जांचते रहना चाहिए।

By : Sameer Banerjee



एसआरजी को दूसरे क्वाटर मुनाफे में 116.84 प्रतिशत की ग्रोथ

कुल आय 90.99 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 14.17 करोड़

16/11/2018 - उदयपुर। एसआरजी हाऊसिंग फाईनेंस लिमिटेड ने वित्तीय वर्ष 2018-19 की दूसरी तिमाही में उत्कृष्ट वृद्धि दर्ज की है। सितम्बर 2018 तक के जो फाईनेंशियल परिणाम आये है उसमें शानदार रिकाॅर्ड सामने आया है। एसआरजी का प्रधान कार्यालय राजस्थान के उदयपुर में और काॅर्पोरेट आॅफीस मुम्बई में है। कम्पनी ने पिछले साल के दूसरे क्वाटर के परिणाम की तुलना में प्रोफिट आफ्टर टेक्स में 116.84 प्रतिशत की ग्रोथ दर्ज करते हुए 4.12 करोड़ का आंकड़ा छू लिया है जो पिछले वर्ष 1.90 करोड़ था वहीं नेट इंटरेस्ट इनकम दूसरी तिमाही में 7.51 करोड़ हो गयी हैं । कम्पनी के एमडी विनोद कुमार जैन ने बताया कि लोन पोर्टफोलियो पिछले वर्ष के दूसरे क्वाटर की तुलना में 98.30 प्रतिशत बढ़ गया है, पिछले वर्ष 125.04 करोड़ था जो 30 सितम्बर 2018 तक 247.96 करोड़ हो गया है। कम्पनी का इपीएस 117.12 प्रतिशत की ग्रोथ के साथ 3.17 हो गया है जो पिछले वर्ष सितम्बर अंत तक 1.46 था। कम्पनी की कुल आय 90.99 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 14.17 करोड़ हुई है जो पिछले वर्ष में दूसरी तिमाही में 7.42 करोड़ थी। एसआरजी के कार्यक्षेत्र का लगातार विस्तार किया जा रहा है अभी राजस्थान गुजरात,मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र में 32 शाखाएं संचालित की जा रही हैं और 5 शाखाओं का जल्दी ही शुभारंभ किया जायेगा।

By : Sameer Banerjee



उदयपुर वासियों के लिए पारम्परिक व्यंजन प्रतियोगिता 17 को

प्रख्यात शेफ निर्णायक की भूमिका निभाएगे
कहीं गुम ना हो जाए थीम पर पारम्परिक व्यंजन

12/11/2018 - उदयपुर। ईनोवेटिंग हॉस्पिटेलिटी द्वारा 17 नवंबर शनिवार को पारम्परिक व्यंजन प्रतियोगिता हरिदासजी की मगरी में आयोजित की जायेगी। ग्रुप के निदेशक शेफ विमल धर और शेफ संगीता धर ने बताया कि लुप्त होती जा रही पारम्परिक पाक कला को आने वाली पीढियों तक पहुंचाने के लिए उदयपुर शहर की दादी और नानी (गृहिणि-विद्यार्थि) अपने हाथों से विभिन्न प्रकार के व्यंजन बनाकर उनको प्रस्तुत करेंगे। व्यंजन प्रतियोगिता का सेमी फाइनल उदयपुर में होगा, जिसमें से चयनित प्रतियोगियों को ग्रैंड फाइनल के लिए नई दिल्ली में भेजा जायेगा। शेफ संगीता धर ने बताया कि कहीं गुम ना हो जाए थीम को लेकर बबीता सक्सेना द्वारा यह पारम्परिक व्यंजन प्रतियोगिता का राष्ट्रीय स्तर पर आयोजन किया जा रहा है, जिसे सभी ने सराहा है। इसी कडी में इस प्रतियोगिता के लिए उदयपुर शहर का चयन किया है जो सभी के लिए गर्व की बात है। इस प्रतियोगिता को सफल बनाने के लिए आर्क गेट समूह की भी सहभागिता है। प्रतियोगिता में देश के प्रख्यात शेफ निर्णायक की भूमिका निभाने के लिए हिस्सा लेंगे।

By : Sameer Banerjee



सूरत फैशन डिजाइनिंग में शहर की दो छात्राओं को मिली जगह

लक्मे फैशन वीक समर रिजोर्ट में प्रदर्शित किये जायेंगे

10/11/2018 - उदयपुर। आईएनआईएफडी की ओर से आगामी 4 दिसम्बर को सूरत में आयोजित होने वाले कार्यक्रम में आईएनआईएफडी उदयपुर में की दो छात्राओं करीना अहमद एवं जरीना सिद्दकी द्वारा डिजाईन किये गये वस्त्रों को स्थान मिला है। उदयपुर सेन्टर हेड सीए प्राची मेहता ने बताया कि यहां से इन छात्राओं के डिजाईन किये गये वस्त्र आगामी वर्ष मुंबई में होने वाले लक्मे फैशन वीक समर रिजोर्ट में प्रदर्शित किये जायेंगे।

By : Sameer Banerjee



ड्रांइगसीट के आकार में दीपक बनाकर दी शुभकामना

दीपक की इस सुंदर कलाकृति का आकार 24 गुणा 20

06/11/2018 - उदयपुर। शहर के प्रख्यात सूक्ष्म शिल्पकार चन्द्रप्रकाश चित्तौड़ा ने इस बार ड्राइंग शीट पर वृहद दीपक की पुस्तिका का निर्माण कर शहरवासियों के दीपोत्सव की शुभकामना दी है। चित्तौड़ा के अनुसार दीपक की इस सुंदर कलाकृति का आकार 24 गुणा 20 है। कलाकार ने दीपों की इस पुस्तिका में 6 ड्राइंग शीटों का उपयोग कर सीट के दोनो ओर दीपावली के महत्व का बखान किया है। साथ ही इस दिन पूजनीय महालक्ष्मी, गणपति एवं मां सरस्वती के सुंदर चित्रों का भी संग्रहण किया है।

By : Sameer Banerjee



सोलिड एवं लिक्विड रिसोर्स मैनेजमेन्ट आमदनी का अच्छा जरिया भी

3 दिवसीय रिसोर्स मैनेजमेन्ट पर कार्यशाला

04/11/2018 - उदयपुर। सोलिड एवं लिक्विड दोनों ही तरह के कचरे का तकनीकी प्रबन्धन हेतु कचरा एकत्रिकरण कर उसका वैज्ञानिक विधि से एकत्रिकरण कर उसे एक रिसोर्स के रूप में उपयोग करने बाबत एवं इस रिसोर्स से आय का साधन बनाने हेतु 3 दिवसीय सोलिड एवं लिक्विड रिसोर्स मैनेजमेन्ट (एसएलआरएम) कार्यशाला मोहनलाल सुखाडिया विश्वविद्यालय में हुई। कार्यशाला में मुख्य वन संरक्षक (वन्यजीव) राहुल भटनागर, मुख्य वन संरक्षक आईपीएस मथारू, पर्यावरण विशेषज्ञ डाॅ. सतीश शर्मा सहित वन विभाग के अधिकारी, पर्यावरणविद् आदि मौजूद थे। कार्यशाला में मुख्य वक्ता वैलोर, प्रोजेक्ट डायरेक्टर एवं कन्सलटेन्ट सोलिड एवं लिक्विड रिसोर्स मैनेजमेन्ट (एस.एल.आर.एम.) इण्डियन ग्रीन सर्विस मुख्य रिसोर्स पर्सन सी.श्रीनिवासन ने घरों, दुकानों व अस्पतालों से निकलने वाले अवांछित पदार्थों का सदुपयोग कर उस से आमदनी प्राप्त करने एवं भविष्य में उसके बेहतर उपयोग को लेकर जानकारी दी। उन्होंने होटल, घर एवं सब्जी मण्डी आदि क्षेत्रों में अवांछित खाद्य सामग्री गौशाला में डालने से सर्वोतम खाद की प्राप्ति की जा सकती है। उन्हांेंने कचरा निस्तारण के बारे में भी विस्तार से बताया। उन्होने जैविक व अजैविक पदार्थों के महत्व बताया और उन्हे अलग अलग डस्टबीन में रखने की बात कही। उन्होने उचित प्रबन्धन से मच्छर मक्खियों से निजात पाने एवं स्वस्थ रहने के तरीकें भी बताए। सी. निवासन की निपुणता गारबेज से गोल्ड बनाने में है एवं पिछले 23 सालों से इस क्षेत्र में उन्होंने कई शहरों में यह कार्य सफलतापूर्वक करने में विभिन्न राज्य सरकारों को सहयोग प्रदान किया है।

By : Sameer Banerjee



त्योहारों के अवसर पर सुनील गारमेंट पर कपड़ो की विशाल रेंज

एक ही छत के नीचे रेडीमेड गारमेंट्स, शूटिंग शर्टिंग एवँ डिजाइनर साड़ी
ब्रांडेड कंपनियों के शूटिंग शर्टिंग पैंटशर्ट कोंबो व सूट लेंथ
डिजाइनर साड़ी लहंगा चुन्नी इत्यादि की विशाल रेंज

28/10/2018 - उदयपुर। त्योहारी सीजन को देखते हुए सुनील गारमेंट पर विभिन्न कपड़ों पर अलग कई तरह की आकर्षक स्कीम चल रही है जिस पर लोगों का ख़ास आकर्षण बना हुआ है। सुनील गारमेंट के अनिल डांगी ने बताया की हमारे यहां एक ही छत के नीचे रेडीमेड गारमेंट्स, शूटिंग शर्टिंग एवँ डिजाइनर साड़ी लहंगा चुन्नी इत्यादि की विशाल रेंज उपलब्ध है। सुनील गारमेंट के सुनील डांगी ने नफा नुकसान को बताया की ब्रांडेड कंपनियों की त्योहारों के अवसर पर आकर्षक स्किम भी चल रही है। जिसमे ऑक्जमबर्ग कंपनी के रेडीमेड कपड़ो पर 3999 रु की खरीद पर एक ट्रॉली बैग फ्री मिल रहा है, किलर कंपनी के रेडीमेड कपड़ो पर 4999 रु की खरीद पर एक डफल व्हील बैग फ्री है, किलर कंपनी के ही रेडीमेड कपड़ो पर 9999 रु की खरीद पर एक ब्रांडेड रिस्ट वॉच फ्री है, मोंटी कार्लो कंपनी के रेडीमेड कपड़ो पर 7500 रु की खरीद पर एक ट्रेवल किट फ्री दिया जा रहा है। साथ ही टैक्सटाइल में सियाराम, रेमंड एवं लिनन क्लब इत्यादि कई कंपनियों के कपड़ो पर लोगों का खास आकर्षण बना हुआ है। सभी ब्रांडेड कंपनियों के शूटिंग शर्टिंग पैंटशर्ट कोंबो व सूट लेंथ गिफ्ट पैकिंग के साथ एवं शाल, कंबल, बेडशीट के साथ ही डांगी साड़ी फर्म में डिजाइनर साड़ी लहंगा चुन्नी इत्यादि की विशाल रेंज उपलब्ध है।

By : Sameer Banerjee



दिल का दौर पड़ने पर पहला घंटा बचाव के लिए महत्वपूर्ण

आमजन को सिखाया इमरजेंसी में जान बचाना

19/10/2018 - उदयपुर। एम.बी. हॉस्पिटल के एनेस्थिसिया विभाग की ओर से हॉस्पिटल के मुख्य पोर्च में गुरुवार को आमजन को संजीवनी टेक्नीक से रुबरु कराया गया। इसमें घुटना, दुर्घटना व हार्ट अटैक के समय छाती में कम्प्रेशन देकर कैसे रोगी की जान बचाई जा सकती है, के बारे में बताया गया। विश्व एनेस्थिसिया सप्ताह के तहत गुरुवार को रेजीडेंट डॉक्टरों ने सीपीआर की ट्रेनिंग दी। इण्डियन सोसायटी आॅफ ऐनेस्थिसियोलोजिस्ट्स के अध्यक्ष डॉ. ललित रेगर ने बताया कि इस सप्ताह स्कूलों, कॉलेजों में भी सीपीआर की ट्रेनिंग दी जाएगी। गुरुवार को ट्रेनिंग पीजी डॉक्टर संदीप चौधरी व डॉ. बाबूलाल ने दी। मानव डमी पर सीपीआर करना सिखाया गया ताकि जरूरत पड़ने पर तत्काल जान बचाई जा सके।
क्या है सीपीआर:
डॉ. ललित रेगर ने वहां मौजूद लोगों को बताया कि दिल का दौर पड़ने पर पहले एक घंटे को स्वर्णिम घंटा माना जाता है। इसी में हम मरीज की जान बचा सकते हैं। कभी कभी एंबुलेंस या अन्य मेडिकल सुविधा तत्काल उपलब्ध नहीं होती। ऐसे में हमें सीपीआर के बारे में पता होना चाहिए ताकि मरीज की जान बच सके।
सीपीआर का मतलब है कार्डियो-पल्मोनरी रिससिटेशन। यह एक प्राथमिक चिकित्सा है। जब कोई सांस लेने में असमर्थ हो जाए, बेहोश जो जाए या हार्ट अटैक आ जाए तब सबसे पहले और समय पर सीपीआर से ही किसी की जान बचाई जा सकती है। इसीलिए इसे संजीवनी क्रिया भी कहते है। जब कभी किसे बिजली का झटका लग जाए, दम घुटने पर या पानी में डूबने पर सीपीआर कई बार संजीवनी बन जाती है।

By : Sameer Banerjee



बंग समाज द्वारा दुर्गा पूजा गीत व नृत्य के कार्यक्रम आयोजित

सत्यजीत राय ने किशोर कुमार के गीत गाकर समां बांधा
विजयादशमी पर मां दुर्गा का विसर्जन कार्यक्रम किया जायेगा

18/10/2018 - उदयपुर। बंग समाज दुर्गाबाड़ी समिति द्वारा आयोजित दुर्गा पूजा के महा अष्टमी के दिन भूपालपुरा में हिंदी गीत व नृत्य के कार्यक्रम आयोजित हुए संगीत के इस कार्यक्रम में सत्यजीत राय ने अपनी बुलंद आवाज में किशोर कुमार के गीत गाकर समां बांधा। बंग समाज के बाल प्रतिभा तूहीना भादुड़ी ने अपनी दिलकश आवाज में श्रोताओं की भरपूर दाग हासिल की नंदिनी दास ने गीता दत्त व आशा भोंसले के हिंदी फिल्म गीत गाकर श्रोताओं का दिल जीत लिया। उद्योगपति आशीष छाबड़ा ने भी अपने स्वर लहरी बिखेरी। श्रेष्ठ नृत्यांगना रिया चक्रवर्ती ने शिव आराधना की मनमोहन प्रस्तुति दी तो इसी कड़ी में बाल नृत्यांगना सुभ्रा दास ने गरबा नृत्य की प्रस्तुति दी।
उल्लेखनीय हे की बंगाली कालीबारी सोसायटी द्वारा भी प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी हिरणमगरी सेक्टर 4 स्थित ब्राह्मण समाज परिसर में दुर्गा पूजन कार्यक्रम चल रहा है। सोसायटी अध्यक्ष दीपांकर चक्रवर्ती के अनुसार 19 अक्टूूबर को विजयादशमी पर प्रातः आठ बजे पूजा आरम्भ होगी, तत्पश्चात दर्पन, विसर्जन एवं अपराजिता पूजा के पश्चात समाज की महिलाओं द्वारा सिंदूर खेला जायेगा। तत्पश्चात मां दुर्गा का विसर्जन किया जायेगा।

By : Sameer Banerjee



"नेता एप" से कर पाएंगे नेताओं की रेटिंग

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने अगस्त में किया लांच

15/10/2018 - उदयपुर। भारतीय नागरिको को अपने विधायकों एवं सांसदों को रेटिंग देने का मौका नेता एप प्रदान करेगा, एप से देश के किसी भी निर्वाचन क्षेत्र में किसी भी समय मतदाता अपनी संवेदनाऐ दे सकता है। चुनाव जीतने के बाद क्षेत्रवासियों की अनदेखी करने वाले नेताओं की अब जवाबदेही सुनिश्चित की जा सकेगी। इसके लिए पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने अपनी तरह के पहले नेता ऐप को लॉन्च किया है। इस एप के माध्यम से मतदाता जनप्रतिनिधियों की रेटिंग कर सकेंगे। इस एप का सबसे बड़ा फायदा यहा होगा कि इससे पता चलेगा कि मतदाता अपने प्रतिनिधि को कैसा फीडबैक कर रहे हैं। उसी के आधार पर आगे कुछ कदम उठाये जा सकेंगे।
नेता ऐप के फाउंडर प्रथम मित्तल ने कहा कि जनता अपने नेताओं के बारे में अधिक से अधिक जाने और यह संकेत भी दे कि उन्हें कैसा जन प्रतिनिधि चाहिए।

By : Pramod Kumar



फार्म 9 से मिलान नहीं भरा तो पेनल्टी देनी होगी

जी.एस.टी इनपुट क्रेडिट दावा 20 अक्टूबर तक
बिक्री में भूल सुधार 31 अक्टूबर तक करना होगा

15/10/2018 - उदयपुर। जीएसटी एक्ट के अंतर्गत वर्ष 2017-18 में मासिक रिटर्नस में दिखाए गए कुल टर्नओवर को फार्म 9 (वार्षिक रिटर्न) में मिलान करना जरुरी हो गया है, इस हेतु अभी से प्रयास करना होगा अन्यथा वार्षिक जी.एस.टी रिटर्न समय पर नहीं भरने से 100 रूपये प्रतिदिन या टर्नओवर का पॉइंट पच्चीस प्रतिशत पेनल्टी देनी होगी।
उदयपुर टैक्स बार द्वारा आयोजित जी.एस.टी सेमीनार में जयपुर से आये विषय विशेषज्ञ एडवोकेट राहुल लखवानी ने आईसीएइ सभागार में कही। सेमिनार की शुरुआत करते हुए अध्यक्ष सी.ए. निर्मल सिंघवी ने बताया कि जी.एस.टी इनपुट क्रेडिट जिसका वर्ष 2017-18 में दावा करना रह गया उसका अंतिम अवसर सितम्बर के रिटर्न में 20 अक्टूबर तक फॉर्म 3-बी में करना होगा एवं इसी तरह बिक्री में इस वर्ष कि भूल सुधार 31 अक्टूबर करना होगा।
एडवोकेट् राहुल लखवानी ने बताया कि जी.एस.टी एक्ट 2017 देश में पहली बार लागू होने से इसकी पूर्व में कोई मिसाल नहीं होने से सावधानी अधिक बरतनी होगी अन्यथा व्यापारियों को बहुत व्यावसायिक हानि उठानी पड़ सकती है। उन्होंने दो करोड से अधिक टर्नओवर होने पर जी.एस.टी हिसाब किताब ऑडिट अनिवार्य होना बताया जो देश में पहली बार लागू होगा एवं इस हेतु व्यापारी को जी.एस.टी रिटर्न एवं ऑडिट फॉर्म 9 सी को पूर्ण मिलाना होगा। सेमिनार में संभाग के 150 से अधिक सी.ए., टैक्स एडवोकेट्स ने भाग लिया एवं निर्यात रिफंड, ई वे बिल अनिवार्यता, रिटर्नस भरने में आने वाली प्रक्रियात्मक कठिनाइयो एवं अन्य ब्याज गणना, पेनल्टी पर विस्तार से चर्चा की ।
आरम्भ में अध्यक्ष सी. ए. निर्मल सिंघवी ने सभी का स्वागत किया एवं सचिव किशोर पाहुजा ने सभी को धन्यवाद् देते हुए जी.एस.टी रिटर्नस पर विचार व्यक्त किये। सेमिनार में जीएसटी समिति के चेयरमैन प्रकाश जवारिया, राकेश मेहता, शशिकांत मेहता, जयेश पारख, आरएल कुणावत, डॉ. सतीश जैन, रमेश विजयवर्गीय, अमित तिवारी एवं अन्य सदस्यों ने चर्चा में भाग लिया।

By : Sameer Banerjee



उदयपुर-पाटलीपुत्र के बीच साप्ताहिक सुपरफास्ट ट्रेन

हर बुधवार को उदयपुर सिटी से दोपहर 12 बजकर 20 मिनट पर प्रस्थान

15/10/2018 - उदयपुर। रेलवे द्वारा उदयपुर से पाटलीपुत्र के बीच नई साप्ताहिक ट्रेन जो हर बुधवार को उदयपुर सिटी से दोपहर 12 बजकर 20 मिनट पर प्रस्थान कर अगले दिन रात्रि 9 बजकर 15 मिनट पर पाटलीपुत्र पहुंचेगी। वापसी दिशा में 19670 पाटलीपुत्र-उदयपुर सिटी साप्ताहिक हमसफर हर शुक्रवार को पाटलीपुर से मध्यरात 12 बजकर 10 मिनट पर प्रस्थान कर अगले दिन सुबह 8 बजकर 20 मिनट पर उदयपुर सिटी पहुंचेगी। सोलह वातानुकूलित 3 टीयर के डिब्बों वाली रेलगाड़ी संख्या 19669-19670 उदयपुर सिटी-पाटलीपुत्र, उदयपुर सिटी साप्ताहिक हमसफर मार्ग में मावली, चंदेरिया, बूंदी, कोटा, सवाई माधोपुर, भरतपुर जंक्शन, अछनेरा, मथुरा जंक्शन, हाथरस सिटी, कासगंज, फरूखाबाद, कन्नौज, कानपुर सेंट्रल, लखनउ, सुल्तानपुर, वाराणसी, पंडित दीन दयाल उपाध्याय मुगलसराय, बक्सर, आरा तथा दानापुर स्टेशनों पर दोनों दिशाओं में ठहरेगी।

By : Sameer Banerjee



होम वर्किंग हाउस वाइफ क्लब द्वारा इवेंटो का आयोजन

25 से अधिक शहरी एवं ग्रामीण व्यवसायी महिलाओ के स्टॉल

14/10/2018 - उदयपुर। नवरात्री के पावन अवसर पर माताजी पूजन के साथ साथ शॉपिंग के लिए डांडिया महोत्सव का आगाज हो चूका है। आरके मॉल में मोनिका मेवाड़ा की उपस्थिति में इवेंटो होम वर्किंग हाउस वाइफ क्लब द्वारा आयोजन हुआ। क्लब की नीना जैन ने बताया कि डांडिया महोत्सव एवम दीपावली से सम्बंधि मटेरिअल होम डेकोर ट्राइबल ज्वेलरी डिज़ाइनर साड़ी, कुर्ती, सिल्वर प्लेट गिफ्ट, पंजाबी सरारा, जॉर्डोजी पोटली, कामदेनु गाय, हाथ से बने आइटम इत्यादी उपलब्ध है।
इस प्रदर्शनी में 25 से अधिक शहरी एवं ग्रामीण व्यवसायी महिलाए अपने प्रोडक्ट का प्रदर्शन कर रही है।
आरके मॉल के निदेशक राजू कोठारी ने बताया की लोगो का उत्साह काफी बना हुआ है।

By : Sameer Banerjee



3 दिवसीय स्टोमिन इंडिया - 2 का हुआ समापन

व्यापारियों ने देश और दुनिया की नई तकनीक को देखा

10/10/2018 - उदयपुर। देश-विदेश की स्टोन एंड टेक्नोलॉजी के समावेश के साथ आयोजित स्टोन हेल्पलाइन कॉरपोरेशन के तीन दिवसीय स्टोन एंड टेक्नोलॉजी एग्जीबिशन स्टोमिन इंडिया - 2 का समापन मंगलवार को हुआ। सुखेर मार्बल मार्केट के बेदला सपेटिया रोड स्थित गोकुल गार्डन में लगे इस तीन दिवसीय फेयर में उदयपुर, राजसमंद, चित्तौड़, जालौर, हैदराबाद, अहमदाबाद, चेन्नई, बेंगलौर, चाइना, इटली और ऑस्ट्रेलिया की स्टोन इंडस्ट्री से जुड़ी कंपनियों ने अपनी नवीन तकनीकों का प्रदर्शन किया। 3 दिन में करीब 7000 व्यापारियों ने विभिन्न स्टालों पर स्टोन इंडस्ट्री की देश और दुनिया की नई तकनीक को देखा और उन्हें अपने व्यापार में किस तरह उपयोग करते हुए अपने उद्योग को बढ़ाया जाए इसको लेकर व्यापारी चर्चाएं भी की।
स्टोमिन इंडिया - 2 के सीईओ मोहन बोहरा ने बताया कि पहले दिन से लेकर तीसरे दिन तक करीब करीब हर स्टॉल पर व्यापारियों का आना जाना लगा रहा। फेयर के दौरान विशेष रूप से बनाए गए वीआईपी लाउंज में सबसे खास बात यह देखी गई कि स्थानीय स्तर के व्यापारी और विदेशी कंपनी के व्यापारियों के बीच अपने व्यापार को लेकर और नई टेक्नोलॉजी को लेकर काफी सार्थक चर्चाएं भी हुई। बोहरा ने बताया कि इस एग्जीबिशन में लगे 2 डोम एवं ऑपर एरिया एग्जिबिशन में 70 कंपनियों के साथ ही कुल 180 स्टॉल धारकों ने अपने उत्पादों का प्रदर्शन किया।
एग्जीबिशन के समापन पर आयोजित समारोह में कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उदयपुर मार्बल प्रोसेसर्स समिति के संस्थापक अध्यक्ष दिलीप तलेसरा ने स्टोमिन को स्टोन इंडस्ट्री के लिए एक सकारात्मक पहल बताया। उन्होंने कहा की झीलों की नगरी में स्टोमिन इंडिया - 2 के रूप में जो राष्ट्रीय स्तर का मंच तैयार हुआ है, उसमें विदेशी कंपनियों की सहभागिता से इसे अंतरराष्ट्रीय रूप मिला है। उन्होंने आयोजकों से यह भी कहा कि आने वाले स्टोमिन इंडिया - 3 मे ज्यादा से ज्यादा विदेशी कंपनीज शिरकत करें इसके लिए भी प्रयास किए जाएं।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उदयपुर मार्बल प्रोसेसर्स समिति के पूर्व अध्यक्ष शरद कटारिया ने कहा कि इस एग्जिबिशन से कई व्यापारियों को अपने व्यापार विस्तार के लिए एक नई सोच मिली है। एक ओर जहां एक्जीबिटर टू एक्जीबिटर का व्यापारिक सम्पर्क बढा है, वही विजिटर टू विजिटर भी कई व्यापारिक संपर्क बने हैं जो आने वाले समय में व्यापारियों के उद्योग को नई ऊंचाइयां प्रदान करेंगे।
स्टोमिन इंडिया के डायरेक्टर मुकेश शर्मा ने बताया कि समापन समारोह में एग्जीबिशन के विशेष सहयोग कर्ता के रूप में रोसावा इंजीनियरिंग कंपनी के चेयरमैन सीपी शर्मा, रोल जैक एशिया लिमिटेड के चेयरमैन एस. के. जैन और सम्राट केमिकल इंडसट्रीज के को -पार्टनर किशोर सिधवानी सहित तुलसी कॉरपोरेशन के चेशमैन रमेश खट्टर को विशेष सहयोगकर्ता सम्मान से सम्मानित किया गया। इसके साथ ही स्टोमिन इंडिया को सफल बनाने के लिए आयोजकों द्वारा सभी एक्जीबिटर्स एवं सहयोगियों को इस आयोजन में हिस्सा लेने के लिए प्रतीक चिन्ह से सम्मानित किया गया।

By : Sameer Banerjee


1