मेवाड़ की खबरें


एफपीओ से जुडकर जिले के किसान हो रहे संगठीत: शशि कमल

फार्मर प्रोड्यूसर ऑर्गनाइजेशन योजना पर कार्यशाला

उदयपुर। नाबार्ड की फार्मर प्रोड्यूसर ऑर्गनाइजेशन योजना के तहत प्रोजेक्ट मॉनिटरिंग कमेटी की कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस बैठक में एफपीओ स्कीम पर काम कर रही जिले की विभिन्न संस्थाओं सहित जिले के कई किसान समूहो के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया।
समिधा संस्थान उदयपुर की ओर से किसान भवन सभागार में आयोजित कार्यशाला के मुख्य अतिथि नाबार्ड के जिला विकास प्रबंधक शशि कमल ने कहा कि एफपीओ स्कीम के माध्यम से स्वय सेवी संस्थाएं किसानों को उनके उत्पादों को सही मूल्य दिलवाने मे पूरी तरह मदद करे। इसके साथ ही किसानों को नवीन तकनीको से जोडकर एवं बैंको से ऋण दिलाकर उन्हे आर्थिक रूप से मजबूती दिलाने मे भी सहायक बने। शशि कमल ने कहा कि एफपीओ का यह उद्देश्य है कि किसानों द्वारा निर्मित उत्पादों को सीधे उपभोक्ताओं तक पहुंचाया जाए। जिससे कि आमजन को भी इसका फायदा मिले और साथ ही किसानों का आर्थिक स्तर भी सुदृढ हो।
कार्यशाला की अध्यक्षता करते हुए एसबीआई लीड बैंक प्रबंधक बालेंद्र प्रसाद ने कहा कि जिले के सभी बैंक किसानों को नियमानुसार ऋण देने को तैयार है इसके साथ किसानों से भी निवेदन है कि बैंको के ऋण की किश्तो को समय पर चुकाये।
समिधा के अध्यक्ष चंद्रगुप्त सिंह चौहान ने बताया कि आज भी किसानों को उनके द्वारा उत्पादित उत्पाद जैसे अदरक, सफेद मुसली, गाय का दूध, ग्वारपाठा, आंवला, अमरूद, निंबोली, तुलसी, मरवा जैसे उत्पादों का सही मूल्य नहीं मिल पा रहा, यहा तक की पारिश्रमिक भी पूरा नहीं मिल पाता। चौहान ने बताया कि समीधा संस्थान ने अब तक 501 महिला कृषको को सदस्य बनाया है। बैठक में समिधा संस्थान सहित गायत्री सेवा संस्थान के डॉ. शैलेन्द्र पंड्या, गांधी मानव कल्याण सोसायटी के मदन नागदा, राजस्थान बाल कल्याण समिति के वीरेन्द्र चौबीसा सहित कई संस्थाओं ने हिस्सा लिया। इस दौरान अधिकारियों ने एफपीओ योजना के तहत आने वाले 1 वर्ष की योजनाओं को लेकर विस्तृत चर्चा की। इस दौरान समीधा के राघव चतुर्वेदी, महादेव चौहान, मनीषा चौबीसा, परमवीर सिंह, वीरेन्द्र चौबीसा सहित टीम के अन्य सदस्य मौजूद रहे।

By : Suresh Lakhan



महाराणा मेवाड़ फाउंडेशन का 37वां वार्षिक सम्मान समारोह सम्पन्न

खोजी पत्रकार तथा लेखिका स्वाति चतुर्वेदी को हल्दीघाटी अलंकरण

उदयपुर। महाराणा मेवाड़ फाउंडेशन का 37वां वार्षिक सम्मान समर्पण समारोह रविवार को सिटी पैलेस के माणक चौक में हुआ। इसमें कला, साहित्य, संस्कृति, शिक्षा, समाज सेवा आदि के क्षेत्र में अनूठे काम करने वाली अंतरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय, राज्य स्तरीय विभूतियों को विभिन्न अलंकरणों से नवाजा गया। अंतरराष्ट्रीय स्तर के कर्नल जेम्स टाॅड अलंकरण से डाॅ. पाॅल टी. क्रैडाॅक को नवाजा गया। क्रैडॉक ने मेवाड़ की अरावली पहाड़ियों से चांदी और जस्ते की प्रारंभिक उत्पादन प्रक्रिया और महाराणाओं के समय जावर खदानों में जस्ता गलाने वाली भट्टियों की प्रक्रिया को विश्वस्तर पर प्रस्तुत कर मेवाड़ के प्राचीन धातु विज्ञान कला को सम्मान दिलाने का काम किया है। सांप्रदायिक सदभाव, देशप्रेम, राष्ट्रीय एकता और अखंडता के क्षेत्र में स्थायी सेवाओं के लिए दिए जाने वाले राष्ट्रीय स्तर के हकीम खां सूर अलंकरण से देश जानेमाने गायक शुमार सुरेश वाडेकर को सम्मानित किया गया। वाडेकर ने भारत की 17 से ज्यादा भाषाओं में गीत गाकर देश को एक सूत्र में पिरोने का काम किया है। राष्ट्रीय स्तर का पन्नाधाय अलंकरण त्रिपुरा के सपन देबबर्मा और उनकी 9 वर्षीय पुत्री सुमा देबबर्मा को दिया गया, जिन्होंने जून 2018 में त्रिपुरा में हुई भयंकर बारिश के कारण रेलवे ट्रैक के नीचे अपनी जान की बाजी लगाकर सैकड़ों रेल यात्रियों की जान बचाई। महाराणा उदयसिंह अलंकरण नई दिल्ली की गीता शेषमणि और कार्तिक सत्यनारायण को दिया गया जो वन्यजीव और घरेलू पशुओं पर क्रूरता के खिलाफ अलख जगा रहे हैं। समारोह में राजस्थान के पुलिस थाना मकबरा, कोटा शहर को उत्कृष्ट कार्यों के लिए महाराणा मेवाड़ विशिष्ट सम्मान प्रदान किया गया। राज्य के खिलाड़ियों को दिया जाने वाला अरावली सम्मान हनुमानगढ़ के अन्तरराष्ट्रीय पैरा एथलेटिक संदीप सिंह मान को पैरा-एथलेटिक्स खेल में भारत का नाम रोशन करने के लिए प्रदान किया गया। प्रसिद्ध वैज्ञानिक डॉ. के. कस्तूरीरंगन की अध्यक्षता में आयोजित समारोह में फाउंडेशन के लक्ष्यराज सिंह मेवाड़ ने देश-विदेश से सम्मानित होने आए प्रबुद्धजनों का पुष्प-हार से स्वागत किया। फाउंडेशन के प्रबंध न्यासी अरविन्द सिंह मेवाड़ ने देश के शहीदों, फाउंडेशन के संस्थापक महाराणा भगवत सिंह मेवाड़ व पूर्व अध्यक्षों को श्रद्वांजलि अर्पित करते हुए स्वागत उद्बोधन दिया। उन्होंने अपने उद्बोधन में विद्यार्थियों को श्रेष्ठ चरित्र निर्माण कर सुदृढ़ राष्ट्र निर्माण के लिए प्रोत्साहित किया। आदिवासी समाज के उत्थान के लिए दिया जाने वाला राणा पूंजा सम्मान उदयपुर जिले के झाड़ोल के झालम चन्द अंगारी को आदिवासी परिवारों में शिक्षा एवं उन्नत कृषि के प्रति अलख जगाने के लिए प्रदान किया गया। संगीत के क्षेत्र में दिया जाने वाला ‘डागर घराना सम्मान’ भारत के प्रख्यात रुद्रवीणा वादक उस्ताद बहाउद्दीन डागर को प्रदान किया गया. ललित कला के क्षेत्र में दिया जाने वाला महाराणा सज्जनसिंह सम्मान मृण शिल्प कला के कलाकार मोलेला, राजसमंद के जमना लाल कुम्हार को प्रदान किया गया। भारतीय संस्कृति, साहित्य व इतिहास के क्षेत्र में दिये जाने वाला महाराणा कुम्भा सम्मान राजस्थानी साहित्य के जाने माने नाम डाॅ। गिरिश नाथ माथुर एवं डाॅ। जितेन्द्र कुमार सिंह को प्रदान किया गया। राज्यस्तरीय अन्य अलंकरणों के तहत ज्योतिष, वेद विज्ञान एवं कर्मकाण्ड में श्रेष्ठ योगदान के लिये डाॅ। हेमन्त कृष्ण मिश्र एवं डाॅ। नरोत्तम पुजारी को महर्षि हारीत राशि सम्मान प्रदान किए गए। महाराणा मेवाड़ सम्मान लखनऊ की मालिनी अवस्थी को अवध, बृज, बुंदेलखंड और भोजपुर की लोकप्रिय लोक कला के संरक्षण के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए प्रदान किया गया। अपने निर्धारित दायित्व की सीमा से ऊपर उठकर किये गये कार्य के लिए दिया जाने वाला राष्ट्रीय स्तर का पन्नाधाय अलंकरण त्रिपुरा के सपन देबबर्मा एवं उनकी 9 वर्षीय पुत्री सुमा देबबर्मा को प्रदान किया गया। जून 2018 में त्रिपुरा में हुई भयंकर वर्षा के कारण रेलवे ट्रेक के नीचे से मिट्टी का कटाव हो गया, ऐसी स्थिति में पिता-पुत्री ने अपनी जान की पहवाह किए बिना जान जोखिम में डाल हजारों रेल यात्रियों की जान बचाई। पर्यावरण संरक्षण-संवर्धन के क्षेत्र में की गई स्थाई मूल्य की सेवाओं के लिए महाराणा उदयसिंह अलंकरण इस वर्ष नई दिल्ली की गीता शेषमणि एवं कार्तिक सत्यनारायण को वन्यजीव एवं घरेलू पशुओं पर क्रूरता के खिलाफ कार्य करने के लिए प्रदान किया गया।

By : Sameer Banerjee



उद्यमियों को 3.12 करोड रूपये केे ऋण स्वीेकृत

संभाग स्तरीय औद्योगिक प्रोत्साहन शिविर का आयोजन
20 महिलाओं को आर्टीजन कार्ड वितरित

उदयपुर। जिला उद्योग केन्द्र उदयपुर की मेजबानी में शिविर में आयुक्त उद्योग राजस्थान की ओर से उदयपुर संभाग स्तरीय औद्योगिक प्रोत्साहन शिविर का आयोजन यूसीसीआई सभागार में किया गया। उदयपुर संभाग के प्रमुख औद्योगिक संगठनों एवं प्रबुद्ध उद्यमियों ने राज्य की प्रस्तावित औद्योगिक नीति हेतु कई उपयोगी सुझाव दिए जिसमे विद्युत अनुदान, विशेष भौगोलिक परिस्थिति के अनुरूप परिवहन अनुदान, ब्याज अनुदान, रीको द्वारा आवंटित औद्योगिक भूमि रियायती दरों पर उपलब्ध करवाने, उद्यमों की मांग के अनुरूप श्रमिकों के तकनीकी प्रशिक्षण, रीको द्वारा भूखण्ड आवंटित होते ही सभी सुविधाएं एक खिडकी अवधारणा के आधार पर मौके पर ही उपलब्ध करवाने जैसे कई उपयोगी एवं व्यावहारिक सुझाव प्राप्त हुए।
जिला उद्योग केन्द्र, उदयपुर के संयुक्त निदेशक विपुल जानी ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा नवीन औद्योगिक नीति में नवीन स्थापित उद्यमों के अलावा कार्यरत उद्यमों के सफलतापूर्वक संचालन एवं प्रोत्साहन पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है एवं उद्यमियों से व्यवहारिक सुझाव प्राप्त कर व्यवहारिक उद्योग नीति का प्रारूप तैयार किया जा रहा है। जिसमें इन सुझावों का समावेश करने हेतु प्रयास किये जायेंगे।
यूसीसीआई के अध्यक्ष हंसराज चौधरी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष केजार अली कुराबड़ वाला एवं उपाध्यक्ष अंशु कोठारी द्वारा भावी उद्यमियों को संबोधित किया। जिला उद्योग केन्द्र प्रतापगढ के महाप्रबंधक द्वारा उद्योग आधार मेमोरेण्डम, जिला उद्योग केन्द्र राजसमंद के महाप्रबंधक द्वारा आरआईपीएस-2014 स्कीम एव जिला उद्योग केन्द्र चित्तौडगढ के जिला उद्योग अधिकारी द्वारा प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम योजना की जानकारी दी गई। मंच संचालन जिला उद्योग अधिकारी जे.पी.गुप्ता ने किया।
शिविर के दौरान विभिन्न बैंकों द्वारा 19 उद्यमियों को 1.22 करोड व राजस्थान वित्त निगम द्वारा 3 उद्यमियों को 1.90 करोड रूपये केे ऋण स्वीेकृत किये गये। साथ ही राजस्थान वित्त निगम द्वारा 39.44 लाख ऋण भी वितरण किया गया। शिविर में 20 महिलाओं को आर्टीजन कार्ड वितरित किये गये।
इस शिविर में मार्गदर्शी बैंक अधिकारी, डीडीएम नाबार्ड, रीको के वरिष्ठ क्षेत्रीय प्रबंधक, आरएफसी के उपमहाप्रबंधक, फैक्ट्री एवं बाॅयलर के उपमुख्यनिरीक्षक, स्टेट जीएसटी के राज्य कर अधिकारी, प्रदूषण नियंत्रण मण्डल के क्षेत्रीय अधिकारी एवं रूडसेटी के अधिकारी सहित कई विभागों के अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने भाग लेकर उद्यमियों की समस्याओं के निराकरण का प्रयास किया। आभार जिला उद्योग केन्द्र की सहायक निदेशक मंजू माली ने व्यक्त किया।

By : Suresh Lakhan



रिसर्च में आया सामने, विषैली है केमिकल युक्त गुलाल

हर्बल गुलाल से खेले होली : डॉ. विनीत सोनी
केमिकल युक्त गुलाल मृदा व पौधों के लिए भी घातक

19/03/2019 - उदयपुर। हर्बल गुलाल को प्रमोट करने के लिहाज से केमिकल युक्त गुलाल पर रिसर्च की गई। मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय के वनस्पति शास्त्र के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. विनीत सोनी के निर्देशन में सुनीता परिहार, मनीषा, हनवंत देवड़ा, दीपक कुमार, उपमा भट्ट और पूजा टेलर ने केमिकल युक्त गुलाल और हर्बल गुलाल का जलीय पोधो पर प्रभाव का गहराई से अध्ययन किया।
रिसर्च में परिणाम चौकाने वाले है। केमिकल युक्त गुलाल की बहुत ही कम सान्द्रता भी पोधो के लिए विषैली पाई गई। इस गुलाल की मात्रा बढ़ाने पर इन पोधो में जैव-रासायनिक प्रक्रिया के साथ साथ प्रकाशसंश्लेषण भी कम होता गया। परिणामस्वरूप कुछ ही दिनों में सभी जलीय पौधे मर गए। इसके विपरीत हर्बल गुलाल की बहुत अधिक सान्द्रता का भी पौधों पर कोई विपरीत प्रभाव नहीं पड़ा।
डॉ. विनीत बताते है कि इस रिसर्च से आम लोगो को समझना चाहिए कि केमिकल युक्त गुलाल और रंग कितने हानिकारक है। गुलाल को चमकीला और वजनदार बनाने के लिए इनमे भारी धातु, रेत के चमकीले कण और सिलिका आदि मिलाये जाते हैं, जो की शरीर के साथ साथ पर्यावरण को भी बुरी तरह से प्रदूषित करते है। इन रंगों में भारी धातु और टॉक्सिक केमिकल जैसे मरक्यूरिक ऑक्साइड, ऑरेमाइन, कॉपर सल्फेट जैसे टॉक्सिक केमिकल इस्तेमाल किए जाते हैं। इससे त्वचा रोग, आंखों के संक्रमण, अस्थायी अंधता, गुर्दे में खराबी, अस्थमा, और त्वचा के कैंसर जैसे रोग तक हो सकते हैं। ऐसे में हमें फूल-पत्तियों और घरेलू चीजों से बनाए हर्बल रंगों और गुलाल से होली खेलनी चाहिये।
शोधार्थी उपमा भट्ट के अनुसार रंगों का त्योहार होली पर कुछ खास बातों का ख्याल रखकर इसे और यादगार बनाया जा सकता है, ऐसा न करने पर पछताना भी पड़ सकता है। होली पर जो रंग बाजार में बिक रहे हैं उनमें तरह-तरह के घातक केमिकल होते हैं। केमिकल युक्त गुलाल केवल मानव स्वास्थ्य को ही हानि नहीं पहुंचाते, बल्कि मृदा को स्थाई रूप से प्रदूषित करने के साथ साथ पेड़-पौधों के लिए भी घातक है।

By : Sameer Banerjee



एयरटेल 4 जी की सेवाएं अब पूरे राजस्थान में

297 कस्बों और 35,674 गाँव में उपलब्ध
राजस्थान में 2 करोड़ से अधिक ग्राहक

16/03/2019 - उदयपुर। भारती एयरटेल भारत की प्रमुख दूरसंचार सेवा प्रदान करने वाली कंपनी एयरटेल का 4 जी नेटवर्क अब पूरे राजस्थान के 297 कस्बों और 35,674 गांव में उपलब्ध होगा, जिससे ग्राहकों को सर्वश्रेष्ठ हाई स्पीड मोबाइल ब्रॉडबैंड सेवाएं प्राप्त होगी। राजस्थान में 20 मिलियन से अधिक ग्राहक है।
एयरटेल ने हाल ही में क्षेत्र भर में अपनी हाई स्पीड डेटा सेवाओं को और अधिक बढ़ाने के लिए बड़े पैमाने पर नेटवर्क विस्तार ड्राइव की घोषणा की। वहीं पूरे भारत में 27 राज्यों में एयरटेल को सबसे तेज़’ मोबाइल नेटवर्क का दर्जा दिया गया है। भारती एयरटेलए राजस्थान की सीईओ निधि लौरिया ने कहा, डिजिटल मंच पर अधिक से अधिक ग्राहकों को लाने के लिए हम राजस्थान में अपनी 4 जी सेवाओं को और सशक्त बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। बजट के अनुकूल स्मार्टफ़ोन की उपलब्धता होने में 4 जी डेटा की भारी वृद्धि को बढ़ावा दे रही है और एयरटेल का लक्ष्य अपने बेहतर डेटा अनुभव के साथ राजस्थान में ग्राहकों की पसंद का 4जी नेटवर्क देने में सक्षम है। एयरटेल की किफायती योजनाएं और पैक मोबाइल पर संगीतए फिल्मों, लाइव टीवी जैसी रोमांचिक डिजिटल सेवाओं तक पहुँच प्रदान करते हैं। ग्राहक अब वॉइस और डेटा दोनों में सर्वश्रेष्ठ श्रेणी के अनुभव के लिए बेहतर नेटवर्क का आनंद ले सकते हैं।
एयरटेल राजस्थान में सबसे व्यापक मोबाइल सेवाएं प्रदान कर रहा है जो एक विस्तृत वितरण चैनल द्वारा 70,000 से अधिक रिटेल दुकानों पर ग्राहकों को ग्रामीण इलाकों में भी सेवाएं प्रदान करता है। एयरटेल का नेटवर्क अब लगभग 96 प्रतिशत आबादी को कवर करता है।
राजस्थान पर विशेष ध्यान
एयरटेल इस क्षेत्र में 4 जी/ 3 जी सेवा शुरू करने वाला पहला ऑपरेटर था। इस क्षेत्र में एयरटेल के नेटवर्क में सभी प्रमुख शहरी, अर्ध शहरी और ग्रामीण क्षेत्र शामिल हैं जिनमें हाईवे, पर्यटन स्थल और व्यापार केंद्र भी शामिल हैं। म्याजलार-जैसलमेर, जैसिंधर स्टेशन-बाड़मेर, लगताला-जैसलमेर, 20 बीडी बीकानेर जैसे दूरस्थ स्थानों में भी एयरटेल नेटवर्क कवरेज प्रदान कर सबसे व्यापक नेटवर्क है। अपने नेटवर्क परिवर्तन कार्यक्रम- प्रोजेक्ट लीप के रूप में, एयरटेल की योजना है कि वित्त वर्ष 2019.20 में नेटवर्क क्षमता को बढ़ाने एवं ग्रामीण और असम्बद्ध क्षेत्रों में सेवाओं को और अधिक गहराई तक ले जाने के उद्देश्य से इस क्षेत्र में 5,000 नई मोबाइल साइटें बनाई जाए। इससे पूरे क्षेत्र में प्रति दिन पांच नए एयरटेल मोबाइल साइट को बनाया जाएगा। इस नियोजित रोलआउट के साथए राजस्थान में एयरटेल की मोबाइल साइट की संख्या में 20 प्रतिशत की वृद्धि होगी।

By : Pramod Kumar



नि:शुल्क दिव्यांग चिकित्सा शिविर आयोजित

101 पोलियोग्रस्त बच्चों का नि:शुल्क चिकित्सा

16/03/2019 - उदयपुर। नारायण सेवा संस्थान के चैनराज सावंतराज पोलियो हॉस्पीटल में शुक्रवार को बड़ी स्थित लियों के गुड़ा में सुप्रसिद्ध भजन गायिका किरण डांगी एण्ड पार्टी ने 101 जन्मजात पोलियोग्रस्त बच्चों के नि:शुल्क चिकित्सा शिविर का उद्घाटन किया तथा पूर्व पोलियोग्रस्त दिव्यांग जो नि:शुल्क ऑपरेशन से स्वस्थ हुए बच्चों, किशोर-किशोरियों से कुशलक्षेम पूछी। नि:शुल्क दिव्यांग चिकित्सा, मूक-बधिर व विमंदित बच्चों द्वारा तैयार शिल्प एवं दिव्यांगों के निशुल्क रोजगारपरक प्रशिक्षण आदि कार्यों का अवलोकन किया। उन्होंने कहा दिव्यांगजन की नि:शुल्क चिकित्सा के साथ ही उन्हें आत्मनिर्भर बनाने का प्रयास किए जाने चाहिए। सेवा और परोपकार तभी हो सकते है जब व्यक्ति में संवेदना और भावना हो। जीवन का हर क्षण आनन्द और उत्साह से भरपूर रहना चाहिए और इसके लिए दूसरों की सेवा और प्रभु का स्मरण ही एकमात्र उपाय है। संस्थान अध्यक्ष प्रंशात अग्रवाल ने बताया कि इस विशेष चिकित्सा शिविर में उत्तरप्रदेश, हरियाणा, पंजाब, झारखण्ड, राजस्थान, गुजरात, दिल्ली आदि राज्यों के बच्चों के ऑपरेशन डॉ. ए. एस. चूण्डावत व डॉ. ओ. डी. माथुर की टीम ने किए। संचालन आदित्य चौबीसा ने किया।

By : Suresh Lakhan



राजू इंजीनियर्स लिमिटेड प्रगति के मार्ग पर अग्रसर

औद्योगिक क्षेत्र की विस्तृत श्रेणी में देती है सेवाएं

13/03/2019 - उदयपुर। राजकोट में ब्लोन फिल्म, शीट निकालने की मशीन के निर्माण में राजू इंजीनियर्स लिमिटेड एफ एम सी जी, पैकेजिंग, कृषि, खाद्य और पेय पदार्थ, फार्मास्यूटिकल्स सहित इत्यादि उद्योग क्षेत्रों की विस्तृत श्रेणी में सेवाएं प्रदान करती है। प्रमोद कुमार के अनुसार राजू इंजीनियर्स किफायती कीमतों पर विश्व स्तरीय एक्सटू्रजऩ तकनीक लाने के लिए जानि जाते हैं और उन्होंने तीन लेयर फीड ब्लॉक विकसित की है और एज बीड को कम करने के लिए आंतरिक अलंकार से 1600 मिमी एक्सट्रूजनजऩ कोटिंग की है। संभवतः राजू इंजीनियर्स एवं कोहली इंडस्ट्रीज ने सबसे उन्नत और बहुमुखी एक्सट्रूजऩ कोटिंग और लेमिनेशन मशीन बनाने के लिए साझेदारी की है। इस साझेदारी से राजू इंजीनियर्स को वित्त वर्ष 2020 से परिचालन और वित्तीय प्रदर्शन दोनों में परिणाम मिलना शुरू होंगे।

By : Pramod Shrivastav



एचआरएच ग्रुप को आईटी पुरस्कार

क्लाउड कम्प्यूटिंग की श्रेणी के तहत आईटी पुरस्कार

13/03/2019 - उदयपुर। एच.आर.एच. ग्रुप को आई.टी. क्षेत्र में श्रेष्ठ कार्यों के लिए दी इकोनोमिकस टाइम्स के वार्षिक सम्मान समारोह में सम्मान प्रदान किया गया। जयपुर में आयोजित सम्मान समारोह में इकोनोमिक्स टाइम्स के बिजनेस हेड अमित गुप्ता ने क्लाउड कम्प्यूटिंग की श्रेणी के तहत एच.आर.एच. ग्रुप आॅफ होटल्स के आई.टी. विभाग के मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी डाॅ. विजय चौधरी को पुरस्कार प्रदान किया। एच.आर.एच. ग्रुप आई.टी. विभाग को वर्ष भर आईटी क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य की उपलब्धियों के लिए ई.टी.सी.आई.ओ. अवार्ड के लिए चयय किया गया। उपरोक्त वार्षिक समारोह जयपुर के क्राउन प्लाॅजा में आयोजित किया गया। दी ऐज आॅफ डिस्ट्रीप्सन के इस वार्षिक समारोह में पूरे भारत वर्ष से 100 से अधिक सी.आई.ओ. ने हिस्सा लिया, जिसमें इन्होंने ऐज आॅफ डिस्ट्रीप्सन पर वार्तालाप व अपने विचार-विमर्श किये। विजेताओं को यह पुरस्कार आईटी क्षेत्र में स्थापित करने के सुअवसर प्रदान करता है।

By : Suresh Lakhan



स्ट्रीट काॅर्टिंग में गिट्स का देश में 10वां स्थान

पूरे देश के मैकेनिकल इन्जिनियरिंग विद्यार्थी सम्मिलित

12/03/2019 - उदयपूर। गीतांजली इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्निकल स्टडीज डबोक, उदयपुर के विद्यार्थियों ने जयपुर में आयोजित राष्ट्रीय स्तर की कार प्रतियोगिता स्ट्रीट काॅर्टिंग – 2 में राष्ट्रीय स्तर पर 10वां स्थान प्राप्त किया। संस्थान के निदेशक डाॅ. विकास मिश्र के अनुसार स्ट्रीट काॅर्टिंग एक प्रकार की तकनीकी प्रतियोगिता हैं इसके अन्तर्गत मैकेनिकल इन्जिनियरिंग ब्रान्च के विद्यार्थी रियल टाइम प्रोडक्ट डवलपमेंट का हिस्सा होते हैं जिसमें विद्यार्थी अपनी अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करते हैं। इस प्रतियोगिता में पूरे देश के मैकेनिकल इन्जिनियरिंग के विद्यार्थी सम्मिलित होते हैं। मैकेनिकल विभागाध्यक्ष डाॅ. दीपक पालीवाल के अनुसार इस प्रतियोगिता में गिट्स के तृतीय वर्ष के कुल 24 विद्यार्थियों ने भाग लेकर ब्रेक टेस्ट, क्लीनेस्ट पिट्ट में राष्ट्रीय स्तर पर प्रथम स्थान तथा एड्योरेन्स में 6वां स्थान प्राप्त कर गिट्स सहित पूरे उदयपुर जोन का नाम रोशन किया। उल्लेखनीय हैं कि प्रतियोगिता में सम्मलित कार्ट एसिस्टेंट प्रो. जुबैर खान व एसिस्टेंट प्रो.अभिषेक जोशी के सानिध्य में गिट्स के मैकेनिकल वर्कशाॅप में पूर्णतया तैयार की गई थी। संस्थान के वित्त नियंत्रक बी.एल. जांगिड़ ने विद्यार्थियों के इस जीत पर बधाई दि।

By : Suresh Lakhan



डॉ. गौतम पीआईएमएस के मेडिकल डायरेक्टर नियुक्त

अगले सत्र से MD/MS कोर्स शुरू किया जायेगा

11/03/2019 - उदयपुर। पेसिफिक इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल साइंस (पीआईएमएस), उमरड़ा में डॉ. एस. के. गौतम को मेडिकल डायरेक्टर नियुक्त किया गया है। इंस्टीट्यूट के चेयरमैन आशीष अग्रवाल ने बताया कि डॉ. गौतम को हॉस्पिटल एंड हेल्थकेयर मेनेजमेंट का 20 वर्षों से भी अधिक का अनुभव है जो इस संस्थान को शिखर तक पहचाने में मददगार होगा। डॉ. गौतम के अनुसार शीघ्र ही सेवाओं में विस्तार के साथ अगले सत्र से पोस्ट ग्रेजुएट ((MD/MS)) कोर्स शुरू किया जायेगा जिसके लिये व्यापक स्तर पर कार्य प्रगति पर है।

By : Suresh Lakhan



नारायण सेवा द्वारा युगांडा में शल्य चिकित्सा शिविर

100 से अधिक बच्चों को सुधारात्मक सर्जरी
अब तक 1000 से अधिक दिव्यांग लोगों की जिंदगी में बदलाव

10/03/2019 - उदयपुर। नारायण सेवा संस्थान, युगांडा की टीम ने युगांडा के स्वास्थ्य मंत्रालय और होइमा रीजनल रेफरल हॉस्पिटल के सहयोग से 3 से 9 मार्च तक दिव्यांग लोगों के लिए 13वां शल्य चिकित्सा शिविर आयोजित किया। शिविर के माध्यम से 100 से अधिक बच्चों को सुधारात्मक सर्जरी और ऑपरेशन के बाद की अन्य सहायता प्रदान करने का लक्ष्य रखा गया, ताकि वे बिना किसी शुल्क के विकलांगता के अभिशाप से छुटकारा पा सकें।
वंचित और दिव्यांग लोगों की सहायता के लिहाज से प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराने के लिए नारायण सेवा संस्थान की टीम ने युगांडा के स्वास्थ्य मंत्री, स्वास्थ्य मंत्रालय के निदेशकों के साथ टीम ने मुलागो, फोर्टपोर्टल और होइमा अस्पतालों के चिकित्सकों, मेडिकल स्टाफ, 13वें शिविर के मुख्य प्रायोजक डॉट सर्विसेज लि. के प्रबंधन और टीम एवं सत्य साई ट्रस्ट, ज्योतिका हार्डवेयर का आभार व्यक्त करते कहा कि स्वास्थ्य मंत्रालय के निरंतर सहयोग और भारतीय समुदाय के दानदाताओं की तरफ से मिले समर्थन की बदौलत वह अपनी सेवाओं को जारी रखना चाहती है, ताकि वंचित वर्ग के अधिक से अधिक ऐसे लोगों को इसका लाभ मिले, जो शल्य चिकित्सा की प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष लागत और उपचार का खर्च उठाने की स्थिति में नहीं हैं। नारायण सेवा संस्थान, युगांडा ने जुलाई, 2016 में अपनी स्थापना के बाद से दानदाताओं के सहयोग से अब तक 1000 से अधिक दिव्यांग लोगों की जिंदगी में बदलाव लाने का प्रयास किया है।
संस्थान ने इन लोगों को निशुल्क गुणवत्तापूर्ण चिकित्सा सहायता उपलब्ध कराई है। संस्थान का ध्येय वाक्य है- ‘मानवता की सेवा ही ईश्वर की सेवा है’ और संस्थान की टीम इसमें मजबूती से यकीन करती है। संस्थान ने युगांडा के जरूरतमंद दिव्यांग लोगों की सहायता के लिए उन्हें शल्य चिकित्सा सुविधा के साथ व्हील चेयर, ट्राईसाइकिल, सीपी चेयर, आर्टिफिशियल लिम और अन्य सहायक उपकरण भी उपलब्ध कराए हैं। संस्थान, युगांडा का संचालन भारतीय मूल के समान विचारधारा वाले लोगों द्वारा दिव्यांग लोगों को निशुल्क उपचार प्रदान करने और उनके पुनर्वास की दिशा में प्रयास करने के उद्देश्य से किया जा रहा है। नारायण सेवा संस्थान, युगांडा एक सामाजिक सेवा संगठन के रूप में नारायण सेवा संस्थान, उदयपुर से प्रेरणा हासिल करता है, जिसका संचालन डॉ. कैलाश मानव और डॉ. प्रशांत अग्रवाल के कुशल नेतृत्व में किया जा रहा है। एनएसएस युगांडा भी आवश्यक क्षमता का निर्माण करने के लिए काम कर रहा है, ताकि युगांडा मेडिकल टीम और युगांडा के तकनीशियनों द्वारा स्थानीय बुनियादी सुविधाओं के साथ युगांडा में चिकित्सा सेवा प्रदान की जा सके।

By : Sameer Banerjee



शिल्पग्राम में ऋतु वसंत 15 मार्च से

कला रसिकों के लिये प्रवेश निःशुल्क

09/03/2019 - उदयपुर। पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र की ओर से 15 से 17 मार्च तक शिल्पग्राम में शास्त्रीय और आधुनिक कलाओं के समारोह ऋतु वंसत का आयोजन होगा जिसमें शास्त्रीय नृत्यों का फ्यूज़न, बांसुरी वादन अन्य मनोरंजक आयोजन होंगे। केन्द्र के अतिरिक्त निदेशक सुधांशु सिंह ने बताया कि बसंत ऋतु का हमारी कला, संस्कृति और साहित्य से अनूठा जुड़ाव है। बसंत ऋतु पर आधारित कई रचनाएं हमारे कलाकारों, चित्रकारों और साहित्यकारों ने समाज के समक्ष प्रस्तुत की। शास्त्रीय व अन्य कलाओं में बसंत रास जैसे नृत्यों, संगीत में राग बसंत की रचनाओं व लोक कलाओं में फाग गायन की परंपरा हमारे देश में रही है। बसंत के इसी पर्व को कलाओं के अनूठे रंग के साथ ‘ऋतु वसंत’ में 15, 16 व 17 मार्च को शिल्पग्राम के मुक्ताकाशी रंगमंच पर प्रस्तुत किया जाएगा। उन्होंने बताया कि शिल्पग्राम के मुक्ताकाशी रंगमंच ‘‘कलांगन’’ पर ‘‘ऋतु वसंत’’ के तीन दिवसीय आयोजन के पहले दिन 15 मार्च दिल्ली की संस्था तपस्विनी के कलाकारों द्वारा शास्त्रीय नृत्यों का फ्युज़न प्रस्तुत किया जायेगा जिसमें कला प्रेमियों को हमारी शास्त्रीय नृत्य शैलियों को एक गुलदस्ते के रूप में निहारने का अवसर मिल सकेगा। समारोह के दूसरे दिन 16 मार्च को फ्ल्यूट सिस्टर्स के नाम से विख्यात बांसुरी वादक बहने देबोप्रिया एवं सुचिस्मिता द्वारा अनूठे अंदाज में युगल बांसुरी वादन किया जायेगा। उन्होंने बताया कि उत्सव के तीसरे दिन पुणे की नीश एन्टरटेनमेन्ट्स द्वारा ‘‘अतुल स्वर पंचम’’ में प्रख्यात संगीत निर्देशक और पंचम के नाम से विख्यात राहुल देव बर्मन की रचनाओं पर आधारित विशेष प्रस्तुति दी जाएगी। उन्होंने बताया कि आयोजनों में कला रसिकों के लिये प्रवेश निःशुल्क होगा।

By : Sameer Banerjee



दिव्यांग और निर्धन सामूहिक विवाह समारोह संपन्न

आयोजन में 52 जोड़े बंधे परिणय सूत्र में
संस्थान ने अब तक 1300 जोड़ों को दि नई जिंदगी

06/03/2019 - उदयपुर। नारायण सेवा संस्थान ने नई दिल्ली में 32वें दिव्यांग और निर्धन व्यक्तियों के सामूहिक विवाह का सफल आयोजन किया जिसमें 52 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे। राजौरी गार्डेन में आयोजित इस समारोह से पूर्व 52 बग्गियां से दुल्हनों को मंडप तक लाया गया। यहां 52 वेदियां तैयार की गई जहां पर देश के सुप्रसिद्ध धार्मिक स्थलों से पहुंचे धर्माचार्यों ने पूरे विधिविधान व रीति रिवाजों के साथ विवाह संपन्न कराया। समारोह में लगभग 3000 मेहमानों ने भाग लिया।
संस्थान के अध्यक्ष प्रशांत अग्रवाल ने कहा कि देश के विभिन्न राज्यों से चुने गए ये जोड़े अपने परिजनों के साथ इस दो दिवसीय विवाह समारोह में शामिल हुए। संस्थान ने दिल्ली में इन सभी के रहने-खाने की व्यवस्था की। इसके अलावा विवाह स्थल तक आने-जाने के लिए वाहनों की भी सुविधा थी। समारोह में 52 पंडितों की उपस्थिति में दिव्यांग जोड़ों ने जीवनभर एक-दूसरे के साथ रहने की कसमें खाईं। संस्थान व भामाशाहों की ओर नव दंपत्तियों को अपना जीवन नए सिरे से शुरू करने के लिए गृहस्थी का सामान प्रदान किया गया। इस दौरान तीन दिव्यांगों को ट्राईसाइकिल, आधा दर्जन को ईयर मशीन व कैलिपर्स प्रदान किये गए।
प्रशांत अग्रवाल ने कहा कि संस्थान पिछले 18 वर्षों से दिव्यांगों का विवाह समारोह आयोजित कर रहा है। संस्थान ने अब तक 1300 से अधिक जोड़ों को अपनी नई जिंदगी शुरू करने में मदद की है। संस्थान का प्रयास दिव्यांगों और निर्धन व्यक्तियों की सहायता प्रदान करना है ताकि उन्हें समाज की मुख्यधारा में जीने का अवसर मिल सके। साथ ही दिव्यांगों को जीवन साथी खोजने में मदद करना, उन्हें अपना घर बसाने और जीवन शुरू करने में मदद करने जैसे कार्य लगातार किए जा रहे हैं।

By : Sameer Banerjee



केदारेश्वर महादेव पर विशाल भंडारा व चिकित्सा शिविर

5000 से अधिक भक्तों ने किए दर्शन
ग्रामीण बच्चों की कविता, कहानी व डांस ने मन मोहा

04/03/2019 - उदयपुर। शिवरात्रि पर तप सम्राट पूज्य केशुलाल म. सा. की प्रेरणा से केशव धाम सेवा संस्थान द्वारा केदारेश्वर महादेव छोटी ऊंदरी में विशाल भंडारा किया गया, जिसमें लगभग 5000 से अधिक भक्तों ने प्रसाद ग्रहण किया । अध्यक्ष महेश बम्ब ने बताया कि निःशुल्क चिकित्सा एवं जांच शिविर में कई व्यक्तियों की जांच करते हुए निःशुल्क दवा वितरित की गयी, परामर्श एवं जांच डॉ. प्रकाशचंद्र सहलोत, मीना राठौड़ इत्यादि के द्वारा की गयी । इस आयोजन में केशव भक्त एवं नाई, उंदरी, नंदेश्वर जी एवं आसपास के कई गाँवों से हजारों भक्त पद यात्रा कर सम्मिलित हुए। मीडिया प्रभारी सम्पत बापना ने बताया कि हिन्दू जागरण मंच क्षेत्रीय प्रचारक सुरेंद्र सिंह ने लघु एवं सीमान्त प्रधानमंत्री किसान सम्माननिधि योजना जिसमें किसानों को छः हजार रुपये तीन किश्तों में प्रतिवर्ष दिए जायेंगे इस योजना के बारे में आने वाले सभी किसान भाइयों को अवगत कराया । महासचिव कमलेश बम्ब ने बताया कि अति. रजिस्ट्रार बीकानेर दिनेश कुमार बम्ब, हिन्दूजागरण मंचचित्तौड़ प्रान्त संयोजक रविकांत त्रिपाठी, शैलेश मारू, अनिल पोरवाल, एडवोकेट भुवनेश जोशी, हेमेंद्र मेहता, ललित भंडारी, राजकुमार अग्रवाल, प्रवीण बंब, नंदलाल बापना, संदीप कंठालिया, जिनेंद्र बापना, दीपेश तलेसरा, रवि सोनी, ओम चोरड़िया, मिठालाल सिंघवी, भंवर सिंह, हिंगड़, जितेंद्र वया , अशोक मादरेचा, विवेक छाजेड़, सरोज कंठालिया, लाडजी बापना, मीना बापना, विनीता तलेसरा, धनलक्ष्मी सोनी, वंदना चोरड़िया, कमलेश सोनी एवं भूपेश इत्यादि ने सेवाएं दी। शिव के भजनों पर ग्रामीण बच्चों ने उत्साह के साथ कविता, कहानी, डांस प्रस्तुत किया जिनका हौसला बढ़ाने करने के लिए केशव धाम सेवा संस्थान के भक्त गण एवं बापना परिवार की तरफ से लगभग सभी बच्चों कों गिफ्ट देकर उत्साहवर्धन किया गया ।

By : Vinita Talesara



केदारेश्वर महादेव पर शिवरात्रि को होगा विशाल भंडारा

प्रतिवर्ष पांच हजार से ज्यादा शिव भक्त होते हे शरीक
ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, हीमोग्लोबिन, कोलेस्ट्रॉल की निःशुल्क जांच एवं दवा भी
डॉ. प्रकाशचंद्र सहलोत एवं अन्य देंगे स्वास्थ्य सेवाएं

03/03/2019 - उदयपुर। तप सम्राट पूज्य केशुलाल जी म. के आशीर्वचन से केशवधाम सेवा संस्थान द्वारा महाशिवरात्रि पर्व पर सोमवार प्रातः 11:30 से केदारेश्वर महादेव छोटी ऊंदरी पर विशाल भंडारा किया जायेगा।
अध्यक्ष महेश बम्ब ने बताया कि गत कई वर्षो की तरह इस वर्ष भी शहर के केशव भक्त एवं ऊंदरी, अलसीगढ़, पई, कुमारिया खेड़ा, पीपलवास, पारी, पलिया खेड़ा, वीड़ा, बारांफलां, मगवास, झाड़ोल से आने वाले सभी शिव भक्त भजन, दर्शन एवं नृत्य करते है। प्रतिवर्ष इस भंडारे में लगभग पांच हजार से ज्यादा लोग प्रशादी ग्रहण करते है।
मीडिया प्रभारी सम्पत बापना ने बताया कि सभी शिव भक्तों के लिए दोपहर 2 बजे से 6 बजे तक डॉ. प्रकाशचंद्र सहलोत एवं अन्य अपनी सेवायें देंगे जिसमे निःशुल्क ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, हीमोग्लोबिन, कोलेस्ट्रॉल इत्यादि की जांच की जायेगी, निःशुल्क परामर्श एवं दवा भी दी जायेगी।
महासचिव कमलेश बम्ब ने बताया कि इस अवसर पर हिन्दू जागरण मंच के क्षेत्रीय प्रचारक सुरेंद्र सिंह, चित्तौड़ प्रान्त संयोजक रविकांत त्रिपाठी, डॉ. लवीना सामर, डॉ. रेवंत सिंघवी और सुनील बापना, बम्ब ने बताया की आयोजन मे राजेश तोषनीवाल, अशोक मादरेचा, विवेक छाजेड़, दिनेश बम्ब, ललित भंडारी, संदीप कंठालिया, जिनेन्द्र बापना, दीपेश तलेसरा, शैलेश मारु, विनीता तलेसरा, सरोज कंठालिया, यशवंत तलेसरा, मीठालाल सिंघवी, जितेंद्र वया, कल्पेश पगारिया, भंवर सिंह, हर्ष भंडारी इत्यादि कई गुरु भक्तो का सानिध्य रहेगा।

By : Vinita Talesara



हिन्दुस्तान जिंक को सखी परियोजना के लिए सीएसआर अवार्ड

दैनिक जागरण सीएसआर अवार्ड से सम्मानित

02/03/2019 - उदयपुर। हिन्दुस्तान ज़िंक को सीएसआर के अन्तर्गत महिला सशक्तिकरण हेतु सखी परियोजना के लिए किये गये उत्कृष्ट कार्यो के लिए दैनिक जागरण सीएसआर अवार्ड से सम्मानित किया गया है। नई दिल्ली में आयोजित समारोह में यह पुरस्कार जागरण के सात सरोकारों की कसौटी पर खरे उतरने वाले सार्वजनिक उपक्रमों, कोर्पोरेट घरानों और गैर सरकारी संगठनों को प्रदान किये गये। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने वेदान्ता हिन्दुस्तान जिंक को महिला सशक्तिकरण श्रेणी सखी परियोजना के लिए पुरस्कृत किया। हिन्दुस्तान जिंक की ओर से यह पुरस्कार हेड सीएसआर चन्देरिया स्मेल्टिंग काम्पलेक्स विशाल अग्रवाल और हेड सीएसआर जावर माइन्स अरूणा चीता ने प्राप्त किया।

By : Sameer Banerjee


1